Trending News
prev next

अयोध्‍या में बनेगी, 251 मीटर लम्‍बी श्रीराम की प्रतिमा

सत्‍यम् लाइव, 31 जुलाई 2020, दिल्‍ली।। अयोध्या में बनेगी भगवान राम की गगन चूमी प्रतिमा, लम्बाई 251 मीटर जो अपने आप में विश्व रिकार्ड बनायेेगी। राम भगवान की नगरी अयोध्या में, भगवान राम मंदिर निर्माण भूमि पूजन की तयारी अपरे पूरे चरम पर पहुँची हुई नजर आ रही है। पूरे भारत में राम भक्तों की खुशी का ठिकाना नहीं है। दूर-दूर से राम भक्त मंदिर निर्माण के लिए पवित्र मंदिरो से, मिट्टी और पवित्र नदियों का पानी भेज रहा है। उनके दिलो में और हाव भाव में राम की भक्ति दिख रही है। और हो भी क्यो ना, यह भगवान पुरूशोत्त्म श्री राम जी की मंदिर बनने की बात है। इस ऐतिहासिक अवसर पर राम भक्त अपने आप को इस शुभ कार्य में अपना योगदान देना चाहता है, चाहे वो श्रम योगदान हो, धन दान, या फिर चाहे अपने भगवान के सब कुछ निछावर करना पड़ेेे, सभी तरह से तैैयार है क्योंंकि भारत भूमि है, ऐसी भूमि जिस पर देवोंं ने अलग अलग रूप में जन्म लेकर भारत की इस धरती को महान बनाया।

श्री राम मंदिर अपने आप में अनोखा होगा क्योंकि भव्य श्री राम मंदिर के साथ एक भव्य श्री राम जी की मूर्ति का निर्माण भी होने जा रहा है। जिसके बनते ही अयोध्या में राम मंदिर के साथ भगवान श्री राम जी प्रतिमा दोनों ही देश का गौरव होंगें। इस प्रतिमा का निर्माण मूर्तिकार राम सुतार और उनके बेटे अनिल सुतार पद्म भूषण से सम्मानित हो चुके है। राम सुतार भगवान राम की मूर्ति के निर्माण में व्यस्त हैं। उन्होंने कहो कि भगवान राम की मूर्ति के डिजाइन के पारित होने के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ बातचीत की है। उन्होंने कहो यह सरकार ने इस मूर्ति के निर्माण के लिए सारी तयारी कर ली है। यह प्रतिमा अयोध्या में भगवान श्री राम की 251 मीटर ऊची प्रतिमा होगी। जो गुजरात में लगी सरदार पटेल की 183 मीटर ऊंची प्रतिमा से भी बड़ी होगी। तो वहीं मुख्यमंत्री जी से बात होने के बाद उन्होने आश्वासन दिया है कि यह मूर्ति पूरी तरह स्वदेशी होगी और वह इसे केवल उत्तर प्रदेश में बनाएंगे , जो कि सबसे विशाल प्रतिमा बल जाएगी। निर्माण कार्य शुरू होने के बाद इसके निर्माण में लगभग साढ़े तीन साल लगेंगे । वहीं उम्मीद की जा रही है कि अयाध्या में राम मंदिर के निर्माण के भूमि पूजन के बाद मूर्ति निर्माण का काम पूरी तरह से शुरू हो जाएगा।

मंसूर आलम

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.