Trending News
prev next

पीएनबी घोटाला : एसएफआईओ करेगा 110 कंपनियों की जांच

PNB घोटाले का आरोपी नीरव मोदी मामले में सरकार ने गंभीर धोखाधड़ी की जांच कार्यालय (एसएफआईओ) को देदी हैं इसमें घोटाले में करीब 110 कंपनियों और 10 सीमित जवाबदेही में मिली हुई और एसएफआईओ ने कंपनियों की जांच करने के आदेश दे दिए है
सूत्रों की जानकारी के अनुसार ये 110 कंपनियां और सीमित जवाबदेही भागीदारी कंपनियां हीरा व्यापारी नीरव मोदी और उसके कारोबारी सहयोगी मेहुल चोकसी से संबंधित हैं.

वित्त मंत्रालय और वित्त मंत्रालयके खिलाफ 11,400 करोड़ रूपये के पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी मामले में जांच चल रही है.दोनों ही कारोबारी बैंकिंग उद्योग के सबसे बड़े घोटालों में से एक, इस घोटाले में मुख्य आरोपी हैं और कई जांच एजेंसियां मामले की जांच कर रही हैं. कारपोरेट मामलों के मंत्रालय ने एसएफआईओ को मोदी और चोकसी से जुड़ी, कुछ सूचिबद्ध कंपनियों सहित करीब 110 कंपनियों और 10 एलएलपी की जांच के आदेश दिए हैं.

एसएफआईओ कारपोरेट मामलों के मंत्रालय के अधीन आता है. वह मुख्य रूप से सफेदपोश अपराधों की जांच करता है और उसके पास गिरफ्तारी के अधिकार भी हैं.आरोपी ​नीरव मोदी व उसके मामा मेहुल चोकसी के खिलाफ कार्रवाई तेज करते हुए प्रवर्तन निदेशालय ने आज 22 करोड़ रुपये मूल्य के आभूषण जब्त किए हैं. वहीं आयकर ने सात संपत्तियों को कुर्क किया है तो प्रवर्तन निदेशालय ने उसकी कंपनी के चार वरिष्ठ अधिकारियों से पूछताछ की.

केंद्रीय सतर्कता आयुक्त के वी चौधरी ने 11,400 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी मामले में पीएनबी और वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की. प्रवर्तन निदेशालय के मुखिया कर्नल सिंह भी पीएनबी धोखाधड़ी मामले में मनी लांड्रिंग निरोधक जांच के सिलसिले में मुंबई गए है जो कि इसी एजेंसी की विशेष टीम कर रही है.इस मामले में अब जब्त किए गए रत्न और आभूषणों का कुल मूल्य 5,671 करोड़ रुपये है.मामले की अनेक एजेंसियों द्वारा जांच के बीच आयकर विभाग ने आज मुंबई में गी​तांजलि समूह व इसके प्रवर्तक मेहुल चोकसी की सात संपत्तिया जब्त की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में करीब 11,400 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी को लेकर अरबपति हीरा कारोबारी नीरव मोदी और आभूषण कंपनी के खिलाफ शिकायतों के बाद जांच शुरू की है.

 

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.