Breaking News
prev next

आरक्षण हटाओ देश बचाओ नारे के बीच, बिहार में चली गोलियां

नई दिल्ली: आरक्षण ‘भारत बंद’ के खिलाफ सवर्णों के एक तबके का आज देशभर में प्रदर्शन जारी है. इसका खासा असर बिहार में देखा जा रहा है. जहां भीड़ ने कई ट्रेनें रोक दी, कई जगहों पर आगजनी की तो वहीं आरा में भीड़ ने कई राउंड गोलियां भी चलाई है. आरा में प्रदर्शनों के हिंसक होने पर प्रशासन ने धारा 144 लागू कर दी है भीड़ की पत्थरबाजी में 6 से 7 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं शहर में दो ग्रुप के बीच झड़पें हुई. इस दौरान गोलियों की आवाज भी सुनी गई. भीड़ ने ट्रेनों की आवाजाही ठप कर दी और ‘आरक्षण हटाओ’ देश बचाओ’ जैसे नारे लगाए.

भीड़ के पथराव में डीएसपी की गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई, कई दुकानों को भी नुकसान पहुंचाया गया है. बंद समर्थकों ने कई जगहों पर सड़क जाम भी किया है.
लखीसराय में भी आरक्षण विरोधी सड़क पर दिख रहे हैं. भीड़ ने एनएच 80 समेत कई सड़कों को पूरी तरह जाम कर दिया. कई दुकानों में तोड़फोड़ की गई. चौराहों पर टायर जलाकर भीड़ ने प्रदर्शन किया. जहानाबाद में प्रदर्शनकारियों ने पटना-गया नेशनल हाइवे को बंद कर दिया. जाम खुलवाने के लिए प्रशासन को कड़ी मशक्कतों का सामना करना पड़ा.

पटना के भी कई क्षेत्रों में मार्ग जाम किया गया. बंद समर्थकों का कहना है कि सभी जातीय समूहों में निर्धन लोग शामिल हैं. ऐसे में आरक्षण आर्थिक आधार पर लागू किया जाना चाहिए. इस बीच बंद को देखते हुए राजधानी पटना के अधिकांश निजी स्कूलों को बंद रखा गया है वहीं सीतामढ़ी में भी कई जगहों पर सड़कों को अवरुद्ध कर आगजनी की गई है. रुन्नीसैदपुर टोल प्लाजा के पास बंद समर्थक सड़क पर उतरे और सड़क जाम किया.

मुजफ्फरपुर में भी सवर्णों के एक वर्ग के भारत बंद के समर्थन में लोग सड़कों पर उतरे. आरक्षण के विरोध में जमकर नारेबाजी की गई और टायर जलाकर आक्रोश जताया. बंद का असर कैमूर, नालंदा, बेगुसराय, दरभंगा, छपरा और पटना सिटी में भी देखा जा रहा है.गौरतलब है कि अनुसूचित जाति जनजाति (एससी/एसटी) के कानून को लेकर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के खिलाफ 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान व्यापक हिंसा और आगजनी हुई थी. हिंसा के दौरान देशभर में कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई थी और कई अन्य जख्मी हो गए थे.

इसी के विरोध और नौकरी/शिक्षा में जाति आधारित आरक्षण के खिलाफ सवर्णों ने आज सोशल मीडिया के जरिए बंद बुलाया है. इस बंद का कोई एक संगठन या नेता अगुवाई नहीं कर रहा है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बंद की घोषणा को देखते हुए सोमवार को सुरक्षा के लिए राज्यों को एडवाइजरी जारी किया था.

 

विज्ञापन

कुछ अन्य लोकप्रिय ख़बरे

  • बथुआ साग खाना होता है फायदेमंद
    नई दिल्ली: बथुआ हर घर में खाया जाने वाला आम साग है. इसमें विटामिन ए, कैल्शियम, फॉस्फोरस और पोटैशियम होता है. कई बिमारियां दूर करने के लिए भी बथुए का प्रयोग किया जाता है. पर बथुए को हमेशा एक लिमिट में खाना चाहिए […]
  • हेमा मालिनी ने कहा, बच्चों के साथ हो रहे अपराध से देश नाम खराब होता है
    नई दिल्ली: बच्‍चों के साथ हो रहे अपराध पर बीजेपी सांसद हेमा मालिनी ने कहा है कि अभी इसकी ज्यादा पब्लिसिटी हो रही है. पहले भी शायद हो रहा होगा पर किसी को मालूम नहीं था, लेकिन इसके ऊपर जरूर ध्यान दिया जाए. ऐसे जो […]
  • डोनाल्ड ट्रम्प ने किम जोंग उन से कहा अब और परमाणु परीक्षण नही होंगे
    उत्तर कोरिया: उत्तर कोरिया के शक्तिशाली नेता किम जोंग उन ने घोषणा की है कि प्योंगयांग अब परमाणु या अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण नहीं करेगा और इसके साथ ही वह अपनी परमाणु परीक्षण साइट बंद कर देगा. इस घोषणा […]
  • गोल्ड कोस्ट में भारत की चमक 
    देश पर छाई विपरीत स्थितियों की धुंध को चीरते कॉमनवेल्थ गेम्स से आती रोशनी एवं भारतीय खिलाड़ियों के जज्बे ने ऐसे उजाले को फैलाया है कि हर भारतीय का सिर गर्व से ऊंचा हो गया है। वहां से आ रही रोशनी के टुकड़े देशवासियों […]
  • जानिये शनिदेव की महिमा
    नई दिल्ली: भगवान शनिदेव की कृपा पाने के लिए आपकों ये दस उपाय जरूर करने होंगे अन्यथा आपकों दुख के अलावा कुछ नहीं मिलेगा। गौरतलब है कि यमराज यदि मृत्यु के देवता हैं, तो शनि कर्म के दंडाधिकारी हैं। गलती जाने में हुई […]
  • मशरूम दूर भगाता है मोटापा
    नई दिल्ली: आज की बदलती जीवनशैली में हर कोई अपने मोटापे से परेशान है और मोटापा बढ़ने के साथ-साथ तमाम तरह की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं शुरू होने लगती है. पेट की बढ़ी हुई चर्बी की वजह से आपको कई बार शर्मिंदा भी होना […]
  • कठुआ गैंगरेप में पीड़ित परिवार की मदद के लिए जुटाया पैसा
    जम्मू: जम्मू कश्मीर सरकार ने जांच एजेंसियों को एक ऑडियो भेजा जिसमें दो लोगों को यह बातचीत करते सुना गया है कि कैसे कथित तौर पर बलात्कार के बाद मार दी गई कठुआ की आठ साल की बच्ची के नाम पर धन जुटाया गया लेकिन उसके […]

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


four × four =