Trending News
prev next

अब पढाई भी ऑन लाइन .. कोरोना संकट

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने आज ऑनलाइन आकर अभिभावकों एवं छात्रों के सवालों के जवाब दिये। साथ ही छात्र और अभिभावकों से परीक्षा को लेकर तनाव न लेने की सलाह दी।

सत्‍यम् लाइव, 28 अप्रैल, 2020 दिल्‍ली।। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने सोशल मीडिया के माध्‍यम से छात्रों एवं अभिभावकों के शिक्षाको लेकर प्रश्‍नों के उत्‍तर दिये। नोवेल कोरोना के कारण लगाये गये सरकार के द्वारा लॉकडाउन के चलते हर अभिभावक अपने बच्‍चों की शिक्षा को लेेकर परेशान है। मानव संसाधन विकासमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक जी ने सर्वप्रथम तो अभिभावकों को बच्‍चों का ध्‍यान रखने की सलाह दी फिर सभी अभिभावक और छात्रों के पूछे गये अहम सवाल का जवाब देते हुए कहा कि एनसीईआरटी से हम लगातार संपर्क में हैं।दुकानों को इसीलिये खोल गया है कि आप लोग किताबें खरीद सकें। लोगों को एनसीईआरटी की किताबों को पढ़नेे की सलाह दी साथ ही दी​क्षा और स्वयंप्रभा एप में भी ये पुस्‍तकें मौजूद हैं।

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक
  • जेईई और नि‍ट की परीक्षाओं को बाद में होगीं इस परीक्षा से डरने की आवश्‍कता नहीं है छात्रगण दीक्षा और स्वयंप्रभा एप से पढ़ाई कर सकते हैं, इसके साथ ही बहुत सारी वेबसाइट्स से ऑनलाइन पढाई कर रही हैं। परीक्षा को लेकर किसी भी तरह का तनाव न लें। इस कोरोना संकट से निपटने के लिये शिक्षा के डिजिटलीकरण के लिए और भी कदम उठाए जा रहे हैं
  • आपका साल खराब न हो इसके लिये समय-समय पर सीबीएसई बोर्ड की साइट देखते रहें। आगे की योजना के बारे में सभी जानकारी मिल जाएंगी। हम जल्द ही परीक्षा लेकर रिजल्ट देने के प्रयास में हैं। लॉकडाउन खुलने के बाद ये साइड और अच्‍छी तरह से काम करेगी।
  • 6 वर्ष तक के बच्चों के लिए कई तरह की योजनाओं पर किया जा रहा है जैसे बच्चों के दिमाग को कैसे विकसित करें? उनको किस तरह का मैटीरियल उपलब्ध कराएं कि बच्चे जल्दी सीखें।

नोवेल कोरोना यानि कोवेड-19 का जो संकट है, हम डटकर मुकाबला कर रहे हैं पढ़ाई का नुकसान न हो इसके लिए सरकार हर स्तर पर काम कर रही है जो आगे भी जारी रहेगी। स्वच्छता अभियान में हर स्कूल का बच्चा शामिल हुआ था और सफाई का काम किया अत: सफाई के कार्य पर ज्‍यादा चिन्‍ता करने की आवश्‍यकता नहीं है।

उपसम्‍पादक सुनील शुुक्‍ल

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.