Trending News
prev next

झारखंंड में शिक्षा व्‍यवस्‍था को, नयी स्‍वीकृति

सत्‍यम् लाइव, 23 जुलाई 2020 दिल्‍ली।। आज कल शिक्षा व्‍यवस्‍था पर सारे ही राज्‍य काम कर रहे हैं और भारत में उच्‍च शिक्षा तक में ऐसी व्‍यवस्‍था की जा रही हैै कि लोग कोरोना जैसे संक्रमण से सदैव ही बच सके और विकास विश्‍व स्‍तरी होता रहे। झारखण्‍ड सरकार ने शिक्षा व्‍यवस्‍था को लेकर जो कुछ कहा है उसे समझने की आवश्‍यकता हैै कि जो तकनीकि संस्‍थान अब तक राज्‍य व्‍यवस्‍था के अन्‍दर था वो भी अब झारखण्‍ड टेक्निकल यूनिवर्सिटी के अन्‍दर संचालित किये जायेगें। आपको 15 फरवरी 2020 की आयी हुई खबर के बारे में बताये कि झारखंड के 44 पॉलिटेक्निक संस्थान के 05 हजार से अधिक स्टूडेंट्स के छह माह के सिलेबस को झारखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी तीन माह में पूरा करायेगी। ऐसा इसलिए होगा क्योंकि पॉलिटेक्निक के पांचवें सेमेस्टर की परीक्षा अब तक नहीं हुई है। तीन साल के इस कोर्स की फाइनल परीक्षा जून माह में होनी है। फरवरी महीने के 15 दिन बीत जाने के बाद भी परीक्षा से संबंधित किसी तरह की जानकारी झारखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी की ओर से नहीं दी गयी है। पॉलिटेक्निक की परीक्षा पिछले तीन सालों से, लेट होती आ रही है वहॉ केे छात्रों का कहना है कि सेमेेेेेस्‍टर ही पूरा नहीं हो पा रहा है सभी छात्रों ने मिलकर जून केे माह मेें प्रदर्शन कर बताया था कि सेमेस्‍टर के देर होने के कारण, नौकरी नहीं मिलेगी और भविष्‍य खतरे में पड जायेगा। अन्‍दाजा आप लगा सकें क्‍योंकि भविष्‍य आपका है? जो प्राविधान में कहा गया है उसका कमेन्‍ट् वैसा का वैसा ही उतारने का प्रयास किया गया है। 28 जून को दैनिक जागरण की खबर के अनुसार शिक्षा विभाग ने ऑनलाइन के वाट्सएप ग्रुप में भेजे अश्लील वीडियो थे जिस पर हंगामा अभी भी चल रहा है।

  • स्टेट बोर्ड ऑफ टेक्निकल एजुकेशन (एस.बी.टी.ई.) को अब झारखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी में समाहित कर दिया गया है। अब तक राज्य के तकनीकी संस्थान जैसे आई.टी.आई., पॉलिटेक्निक एस.बी.टी.ई. के तहत आते थे अब इन संस्थान को झारखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी के अंदर संचालित होंगे।
  • उच्च तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग अंतर्गत विश्व बैंक संपोषित पॉलिटेक्निक शिक्षा सुदृढ़ीकरण परियोजना के अंतर्गत संविदा के आधार पर नियुक्त शिक्षकों एवं शिक्षकेतर कर्मियों का वित्तीय वर्ष 2018-19 एवं 2019-20 की अवधि विस्तार की स्वीकृति दी गयी।

जैक (झारखंड एकेडमिक काउंसिल) द्वारा आयोजित की गयी 12 वीं की परीक्षा में, धावाटांड़ निवासी कैलाश मोदी की बेटी प्रियंका कुमारी मोदी, पारसनाथ इंटर कॉलेज के इसरी बाजार की आर्ट्स की छात्रा है। 12 वीं की परीक्षा में, हाई स्कूल डुमरी में, बनाये गये परीक्षा केन्द्र में परीक्षा दी थी। छात्रा ने जैक के सचिव को पत्र लिखकर न्याय की गुहार लगाई है। सभी विषयों की परीक्षा देने के बावजूद जारी परीक्षा परिणाम में अनुपस्थित कर एक छात्रा को अनुतीर्ण करने का मामला आया है। परीक्षा के दौरान वह सभी विषयों की परीक्षा में सम्मिलित हुई थी। हाल ही में, जब परीक्षा परिणाम आया तो उसे फेल दिखाया गया जिसका कारण परीक्षा परिणाम में उसे अनुपस्थित बताया गया। यह हाल झारखंड सरकार के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो के क्षेत्र के कॉलेज का है।

सुनील शुक्‍ल

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.