Breaking News
prev next

दिल्‍ली के सरकारी स्‍कूलों पर तैयार हो रहा है ”माइक्रो प्‍लान”

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा “हमें यह कैसे सुनिश्चित करना चाहिए कि हम अपने सभी बच्चों के साथ संपर्क में रहें और उनका समर्थन करें, ताकि वे स्कूल न छोड़ें।

सत्‍यम् लाइव, 27 मई 2020, दिल्‍ली।। कल की प्राप्‍त प्रधानमंत्री कार्यालय से सूचना के अनुसार अभी तक कोई आधिकारिक सूचना स्‍कूल खुलने की नहीं दी गई है परन्‍तु आज दिल्‍ली के सरकारी स्‍कूूलों को फिर से खोलने की तैयारी में लगे होने की सूचना प्राप्‍त हुई है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने इसे लेकर अहम कदम उठाने को तैयार हैंं। शिक्षा निर्देशालय का मानना है कि स्‍कूलों को तैयार रहना होगा और साथ ही बच्‍चों सहित अभिभावक के मन से तनाव समाप्‍त करके विश्‍वास पैदा करने का काम करना होगा। अभी दिल्‍ली केे शिक्षा निर्देशालय ने दिल्‍ली केे 1030 स्‍कूलों के हेड मास्‍टर से स्‍कूल पर माइक्रो प्‍लान बनाकर 5 जून तक मॉगा है। सोशल डिस्‍टेंसिंग के पर ध्‍यान में रखते हुए कुछ कक्षाऐं प्रतिदिन लगाई जाने के लिये, शिक्षा निर्देशालय और स्‍कूल के बीच कुछ प्‍लान किया जा सकता है कुछ अकैडमिक एक्टिविटी को हटाकर, ऑनलाइन और कक्षायें प्रारम्‍भ करने पर भी विचार करने को पूछा गया है।

शिक्षा बोर्ड के डायरेक्‍टर विनय भूषण जी का बताया कि सभी शिक्षक गण से कहा गया है कि वे बच्‍चों से तथा उनके अभिभावक से बात करके ये पता करे कि वे कहॉ पर हैंं? कहीं वो अपने गॉव तो नहीं चले गये। स्‍कूल खुलने केे बाद में मानसिक स्‍तर पर उसे तैयार करना आवश्‍यक होगा। सभी स्‍कूल में काउंसलर हैं और उन्‍हें इस स्‍पेशल ड्यूटी पर लगाया जायेगा। सभी स्‍कूल एक ही स्‍तर पर कार्य नहीं कर सकते हैं अत: उन्‍हें उनकी कंडिशन पर ही, प्‍लान बनाकर 5 जून तक देने के लिये कहा गया है। स्कूल खुलने के बाद पहले टीचर्स, स्कूल मैनेजमेंट कमेटी और पैरंट्स से क्या मदद ली जाए? यह भी पूछा है कि लॉकडाउन के दौरान कितने स्टूडेंट्स से ऑनलाइन पढ़ाई के लिए संपर्क में हैं? स्कूल खुलने के बाद और अतिरिक्‍त सहायक की जरूरत पर भी राय मांगी गयी है। निर्देशक विनय भूूषण जी ने बताया। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने इसे लेकर अहम कदम उठाने को तैयार हैंं। इस विषय पर मनीष सिसोदिया ने कहा, हम इस योजना पर इसलिए काम कर रहे हैं क्योंकि हमें अंतिम निर्णय करने से पहले, कई बातों पर विचार करने की आवश्‍यकता है सिर्फ सामाजिक दूरियॉ और सैनिटाइजेशन से काम नहीं चलने वाला। कोई भी निर्णय बच्चों और अभिभावकों पर गहरा असर डाल सकता है क्योंकि शिक्षा, सामाजिक जीवन का अभिन्न अंग है। सिसोदिया जी ने प्रिंसिपल्स के साथ ऑनलाइन मीटिंग में ये बात कही। साथ ही कहा कि चुनौतीपूर्ण समय में शिक्षा व्‍यवस्‍था के लिये नए मानक स्थापित किए जाएंगे। उपमुख्यमंत्री ने जोर देते हुए कहा, “हमें यह कैसे सुनिश्चित करना चाहिए कि हम अपने सभी बच्चों के साथ संपर्क में रहें और उनका समर्थन करें, ताकि वे स्कूल न छोड़ें। स्कूल के फिर से खुलने पर दैनिक शिक्षण-अधिगम के लिए कौन सी कक्षाएं आनी चाहिए, ऑनलाइन विधि का उपयोग कैसे किया जाना चाहिए, पिछले साल तक कौन सी नियमित गतिविधियां आयोजित की गई थीं, जो इस वर्ष नहीं होंगी।”

उपसम्‍पादक सुनील शुक्‍ल

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

  • लेबर अधिकारियों के इंस्‍पेक्‍शन में दिल्‍ली के शिक्षा मंत्री
    सत्‍यम् लाइव, 21 अक्‍टूबर 2020 दिल्‍ली।। दिल्‍ली के उपमुख्‍यमंत्री एवं शिक्षामंत्री मनीष सिसाैै‍दिया जी ने कल स्‍वयं पुष्‍प विहार के डिस्ट्रिक्‍ट लेबर कार्यालय का सरप्राइज इंस्‍पेक्‍शन किया। साथ ही ट्वीट करके लिखा […]
  • स्‍वस्‍थ जीवन के लिये घातक रसायनिक खाद्य
    सत्‍यम् लाइव, 20 अक्‍टूबर, 2020, दिल्‍ली।। इस कोरोना काल में लोगों को एहसास दिला दिया है कि शुद्ध शाकाहारी, स्वस्थ भोजन करने से अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को संतुलन करके ऐसे अनेको वायरस से बचा जा सकता है वैसे भी […]
  • श्रीरामवरदायनी माता सती का परीक्षा स्‍थल
    सत्‍यम् लाइव, 17 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। शरदीय नवरात्रि के शुभ अवसर माता सती द्वारा श्रीराम परीक्षा लेेने की कथा आप सबने सुनी होगी आज नवरात्रि के अवसर पर माता के उस स्‍थल का परिचय कराने का पुन: अवसर प्राप्‍त होता […]
  • कलाम को सलाम
    सत्‍यम् लाइव, 15 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। 15 अक्टूबर 1931 को धनुषकोडी गाँव (रामेश्वरम, तमिलनाडु) में एक मध्यमवर्ग मुस्लिम अंसार परिवार में इनका जन्म हुआ उनके पिता जैनुलाब्दीन मछुआरों को नाव किराये पर दिया करते थे। […]
  • ओडिशा-तेलंगाना में भारी बारिश से 15 मरे
    सत्‍यम् लाइव, 14 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। अभी भी बारिश का कहर रूका नहीं है एक तरफ कोरोना को लेकर 900 करोड रूपयेे विज्ञापन पर खर्चा किया जा रहा है तो दूसरी तरफ प्रकृति की विनााश लीला पूरी तरह से प्रारम्‍भ है। अभी […]
  • सोने पर सोना विवाद या प्रचार
    सत्‍यम् लाइव, 14 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। आज बदलते जमाने में सोच बदलने का प्रस्‍ताव बार बार दिया जाता है परन्‍तु भारतीय जनमानस अपनी सोच बदल नहीं सकता हैंं क्‍योंकि व्‍यक्ति चाहे जितने प्रयास कर ले, उसके अन्‍दर आने […]