Trending News
prev next

महामृत्युंजय

महामृत्युंजय मंत्र का प्रभाव

बड़ी तपस्या से ऋषि मृकण्ड के पुत्र हुआ। कितु ज्योतिर्विदों ने उस शिशु के लक्षण देखकर ऋषि के हर्ष को चिंता में परिवर्तित कर दिया। उन्होंने कहा यह बालक अल्पायु है। इसकी आयु केवल बारह वर्ष है। मृकण्ड ऋषि ने अपनी पत्नी को आश्वत किया-देवी, चिंता मत करो। विधाता जीव के कर्मानुसार ही आयु दे सकते हैं, कितु मेरे स्वामी समर्थ हैं। भाग्यलिपि को स्वेच्छानुसार परिवर्तित कर देना भगवान शिव के लिए विनोद मात्र है। ऋषि मृकण्ड के पुत्र मार्कण्डेय बढऩे लगे। शैशव बीता और कुमारावस्था के प्रारंभ में ही पिता ने उन्हें शिव मंत्र की दीक्षा तथा शिवार्चना की शिक्षा दी। पुत्र को उसका भविष्य बता•र समझा दिया कि पुरारि ही उसे मृत्यु से बचा सकते हैं। माता-पिता तो दिन गिन रहे थे। बारह वर्ष आज पूरे होंगे। मार्कण्डेय मंदिर में बैठे थे। रात्रि से ही और उन्होंने मृत्युंजय मंत्र की शरण ले रखी है- त्र्यम्बक यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धन्म। उर्वारुकमिव बन्धनामृत्येर्मुक्षीय मामृतात्। सप्रणव बीजत्रय-सम्पुटित महामृत्युंजय मंत्र चल रहा था। काल किसी की भी प्रतीक्षा नहीं करता। यमराज के दूत समय पर आए और संयमनी लौट गए। उन्होंने अपने स्वामी यमराज से जाकर निवेदन किया- हम मार्•ण्डेय तक पहुंचने का साहस नहीं पाए। इस पर यमराज ने कहा कि मृकण्ड को पुत्र को मैं स्वयं लाऊंगा। दण्डधर यमराज जी महिषारूढ़ हुए और क्षण भर में मार्कण्डेय के पास पहुंच गए। बालक मार्कण्डेय ने उन कज्जल कृष्ण, रक्तनेत्र पाशधारी को देखा तो सम्मुख की लिंगमूर्ति से लिपट गया। हुम्, एक अद्भुत अपूर्व हुंकार और मंदिर, दिशाएं जैसे प्रचण्ड प्रकाश से चकाचौंथ हो गईं। शिवलिंग से तेजोमय त्रिनेत्र गंगाधर चन्द्रशेखर प्रकट हो गए थे और उन्होंने त्रिशूल उठा लिया था और यमराज से कहा कि तुम मेरे आश्रित पर पाश उठाने का साहस केसे करते हो?। यमराज ने डांट पडऩे से पूर्व ही हाथ जोडक़र मस्तक झुका लिया था और कहा कि मैं आप का सेवक हूं। कर्मानुसार जीव को इस लोक से ले जाने का निष्ठुर कार्य प्रभु ने इस सेवक को दिया है। भगवान चंद्रशेखर ने कहा कि यह संयमनी नहीं जाएगा। इसे मैंने अमरत्व दिया है। मृत्युंजय प्रभु की आज्ञा को यमराज अस्वीकार केसे कर सकते थे? यमराज खाली हाथ लौट गए। मार्कण्डेय ने यह देख लिया। उर्वारु•मिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्। वृन्तच्युत खरबूजे के समान मृत्यु के बन्धन से छुड़ाकर मुझे अमृतत्व प्रदान करें। मंत्र के द्वारा चाहा गया वरदान उस का सम्पूर्ण रूप से उसी समय मार्कण्डेय को प्राप्त हो गया। भाग्यलेख-वह औरों के लिए अमित होगा, कितु आशुतोष के आश्रितों के लिए भाग्येलख क्या? भगवान ब्रह्मा भाग्यविधाता स्वयं भगवती पार्वती से कहते हैं- बावरो रावरो नाह भवानी।

ॐ हौं जूं सः ॐ भूर्भुवः स्वः ॐ त्र्यम्‍बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् उर्वारुकमिव बन्‍धनान् मृत्‍योर्मुक्षीय मामृतात् ॐ स्वः भुवः भूः ॐ सः जूं हौं ॐ !!
महा मृत्‍युंजय मंत्र का अर्थ समस्‍त संसार के पालनहार, तीन नेत्र वाले शिव की हम अराधना करते हैं।
ओम त्र्यंबकम् मंत्र के 33 अक्षर हैं जो महर्षि वशिष्‍ठ के अनुसार 33 देवताआं के घोतक हैं। उन तैंतीस देवताओं में 8 वसु 11 रुद्र और 12 आदित्य 1 प्रजापति तथा 1 षटकार हैं। इन तैंतीस देवताओं की सम्पूर्ण शक्तियाँ महामृत्युंजय मंत्र से निहीत होती है जिससे महा महामृत्युंजय का पाठ करने वाला प्राणी दीर्घायु तो प्राप्त करता ही हैं। साथ ही वह निरोग, ऐश्व‍र्ययुक्ता भी होता है। महामृत्युंजय का पाठ करने वाला प्राणी हर दृष्टि से सुखी एवम समृध्दिशाली होता है। भगवान शिव की अमृतमययी कृपा उस निरन्तंर बरसती रहती है।

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

  • लगभग सभी राज्‍यों में बढा लॉकडाउन
    सत्यम् लाइव, 9 मई 2021, दिल्ली।। कोरोना महामारी को देखते हुए भारत के कई राज्यों में लॉकडाउन को बढा दिया गया है। तमिलनाडु, राजस्थान और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में 10 मई यानी सोमवार से संपूर्ण लाकडाउन था जो अब […]
  • भगवान ने दो सिलेण्डर दिये हैं ….बाबा रामदेव
    सत्यम् लाइव, 9 मई 2021, दिल्ली।। योग गुरु बाबा रामदेव ने अपने एक कार्यक्रम में ऑक्सीजन की कमी पर कहा कि सिलेण्‍डर कम पड गये हैं भगवान ने दो दो सिलेण्डर दिये हैं ये कहने के साथ ही दोनों नाकों से श्वॉस लेकर कहा कि […]
  • स्वामी करुणामूर्ति जी ने शरीर का किया परित्याग
    सत्यम् लाइव, 8 मई 2021, दिल्ली।। कानपुर के पश्चिमी मन नमन पारा में स्नेह विकलांग आश्रम संचालित करनेे वाले स्वामी करुणामूर्ति जी ने नश्वर शरीर का परित्याग कर दिया है। अचानक हुई उनकी मृत्‍यु से शोकग्रस्त परिवार जन […]
  • कोरोना की तीसरी लहर में बच्चे होगेंं शिकार….सुब्रमण्यम स्वामी
    सत्यम् लाइव, 7 अप्रैल 2021, दिल्ली।। केंद्र सरकार ने कोरोना के तीसरी लहर की भी आशंका जताई है, जिसे सुनकर चिंता बढ़ना स्‍वाभाविक है पिछले 24 घंटे में कोरोना के चार लाख से भी ज्यादा मरीज में से 3980 लोगों की जान जा […]
  • 82 वर्षीय चौधरी अजित सिंह ने ली अन्तिम श्वॉस
    सत्यम् लाइव, 6 अप्रैल, 2021, दिल्ली।। मनमोहन सिंह सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे चौधरी अजित सिंह की तबियत मंगलवार रात तबीयत ज्यादा खराब हो गई थी आज प्रात: लगभग 6 बजे, 82 साल की उम्र में चौधरी अजित सिंह ने आखिरी सांस […]
  • नींबू से कोरोना का इलाज..देवरिया यातायात पुलिस
    सत्यम् लाइव, 5 मई 2021, दिल्ली।। सोशल मीडिया पर एक विडियों वायरल हो रहा है जिसमें देवरिया यातायात पुलिस का एक अधिकारी माइक लेकर नींबू की एक एक बूंद नाक में डालें और जिसको कोरोना हो चुका है उसे भी आराम मिल रहा है। […]
  • भारत-ब्रिटेन के बीच 1 अरब पाउंड के निवेश की घोषणा
    सत्यम् लाइव, 4 मई 2021, दिल्ली।। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के बीच आभासी शिखर सम्मेलन से पहले, ब्रिटिश सरकार ने मंगलवार को भारत के साथ एक अरब पाउंड के निवेश पर समझौते […]

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.