Trending News
prev next

कांग्रेस स्थापना दिवस के अवसर पर कांग्रेस प्रदेश कार्यालय में ध्वजारोहण किया ! – अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार

सत्‍यम् लाइव, नई दिल्ली, 28 दिसम्बर, 2020 : #SelfiewithTiranga भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के 136वें स्थापना दिवस के मौके पर आज दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने प्रदेश कार्यालय राजीव भवन में कांग्रेस का झंडा फहराया और कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ताओं ने वंदेमातरम एवं राष्ट्रगान भी गाया गया।

कांग्रेस स्थापना के अवसर पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार सभी 70 विधानसभाओं में ‘‘तिरंगा यात्रा’’ का आयोजन किया गया जिसमें क्षेत्रीय कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ पूर्व सांसद, पूर्व विधायक, निगम पार्षद, पूर्व निगम पार्षद, चुनाव लड़े प्रत्याशी, ब्लाक अध्यक्ष सहित अग्रिम संगठनों के कार्यकर्ताओं ने भी भाग लिया। प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार आज चॉदनी चौक जिला कांग्रेस द्वारा हौज काजी चौक पर आयोजित तिरंगा यात्रा में शामिल हुए, यात्रा हौज काजी चौक, चावडी बाजार से तुर्कमान गेट तक निकाली गई, जिसका आयोजन चॉदनी चौक जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मौहम्मद उस्मान ने किया। तिरंगा यात्रा में चौ0 अनिल कुमार के साथ उपाध्यक्ष मुदित अग्रवाल, अली मेहंदी, पूर्व विधायक कुंवर करण सिंह, निगम पार्षद प्रेरणा सिंह, जावेद मिर्जा, संदीप गोस्वामी और परवेज आलम मुख्य रुप से मौजूद थे।

चौ0 अनिल कुमार ने इस अवसर पर कहा कि कांग्रेस एक विचार धारा का नाम है जिसने भारत को आजादी दिलाने में अहम भूमिका निभाई। देश के सबसे पुराने राजनीतिक दल के रुप में कांग्रेस पार्टी ने आजादी के बाद देश को जो प्रगति और विकास की राह दिखाई, उसका असर आज पूरी दुनिया देख रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में भाजपा की केन्द्र सरकार आज जिस प्रकार देश के उद्योग धंधों और औद्योगिक ईकाईयों का वर्गीकरण करके अपने चहेते पूंजीपतियों के हाथों में सौंपती जा रही है, उसकी आधारशिला कांग्रेस पार्टी ने देश को सरकार देते समय और संविधान बनाते वक्त बिलकुल भी नही रखी थी। उन्होंने कहा कि भाजपा की केन्द्र सरकार के गरीब विरोधी निर्णयों के कारण ही आज किसानों, मजदूरों, गरीबों, मध्यम और निम्न आय के लोगों का जीवन स्तर ध्वस्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के आवाम विरोधी निर्णयों का जीता जागता उदाहरण पिछले एक महीने से चल रहा किसान आंदोलन है। किसानों को उनकी फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य के कारण आंदोलन करना पड़ रहा है।

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.