Trending News
prev next

दिल्ली चुनाव के रुझानों में जीतती दिखी AAP ,अरविंद केजरीवाल का दुबारा होगा मुख्य मंत्री के रूप में राज्यभषेक..

सत्‍यम् लाइव, दिल्‍ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार सुबह 8 बजे से मतों की गिनती जारी है। रुझानों में आम आदमी पार्टी 59 सीटों पर आगे चल रही है, बीजेपी 11 सीटों पर आगे चल रही है। ऐसे में अब आम आदमी पार्टी ने जीत का जश्न मनाना शुरू कर दिया है। इसके लिए पार्टी कार्यालय पहुंचे आप के संजय सिंह ने कहा कि- आज दिल्ली की जनता ने ऐतिहासिक पक्ष दिया है। दिल्ली की जनता ने बात दिया। दिल्ली के 2 करोड़ लोगों का बेटा अरविंद केजरीवाल है। उसे कोई हरा नही सकता। भाजपा के अमित शाह की पूरी ताकत झोंक देने के बाद भी दिल्ली ने केजरीवाल को जिताया। साथ दिल्ली ने बात दिया की राजनीति बदलेगी जो काम करेगा वही जीत। केजरीवाल ने अपना तन मन दिल्ली को दे दिया था। उसी का परिणाम ये नतीजा है। केजरीवाल को आतंकवादी कहा गया था लेकिन उन्होंने कहा था कि 11 तारीख को साबित हो जाएगा कि केजरीवाल कट्टर देशभक्त है। उन्होंने कहा कि दिल्ली चुनाव को हिन्दुस्तान पाकिस्तान का मैच बताया गया था, हिन्दुस्तान जीत गया।

गौरतलब है कि कुछ समय पहले भाजपा के कपिल मिश्रा ने एक विवादित बयान देते हुए कहा था कि 8 फरवरी को दिल्ली में हिन्दुस्तान बनाम पाकिस्तान होगा। इस बयान के बाद चुनाव आयोग ने उन्हें सजा भी दी थी जिसमें उनके चुनाव प्रचार पर 48 घंटे का बैन लगाया गया था।

बताते चलें कि 8 फरवरी को वोटिंग खत्म होने के बाद शनिवार शाम को आए एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी बहुमत के साथ सरकार बनाती दिख रही है। लेकिन बीजेपी का दावा है कि अंतिम घंटों में हुई बंपर वोटिंग उसके पक्ष में हुई है और ऐसा करने वाले लोग एग्जिट पोल के सैंपल में शामिल नहीं हो पाए हैं। एग्जिट पोल देखकर उत्साहित आम आदमी पार्टी अपने पिछले चुनाव के नतीजों को दोहराना चाहेगी। वहीं, बीजेपी दो दशक से ज्यादा समय बाद सत्ता में वापसी की राह देख रही हैं। वहीं, कांग्रेस भी वापसी की कोशिश में है। पिछले विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को 70 में से 67 सीटें मिली थीं। तीन सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की थी। कांग्रेस को एक भी सीट हासिल नहीं हुई थी।

दिल्ली की विधानसभा के लिए बीते 8 फरवरी को हुए मतदान में 62.59 फीसद लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। यह 2015 के आंकड़े से 5 प्रतिशत कम है। इस चुनाव में 1.47 करोड़ वोटर्स थे, जिसमें से 66.8 लाख महिलाएं और 81.05 लाख पुरुष मतदाता थे। इसके अलावा 869 थर्ड जेंडर वोटर्स थे। दिल्ली की सभी 70 सीटों पर कुल 672 उम्मीदवार चुनाव में उतरे हैं जिनमें 593 पुरूष उम्मीदवारों और 79 महिला प्रत्याशी शामिल हैं। इन 70 सीटों में 12 सीटें एससी के लिए आरक्षित थीं।

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.