Trending News
prev next

2018 : जानिए चैत्र नवरात्रि में कलश स्थापना विधि

दिल्ली:  सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक चैत्र नवरात्रि इस बार 18 मार्च से शुरू होकर 25 मार्च तक चलेंगी। चैत्र नवरात्रि को आत्‍मशुद्ध‍ि और मुक्‍त‍ि का आधार माना जाता है कहा जाता है कि चैत्र में नवरात्रि में उपासना औ पूजा करने से घर की नाकारात्मकता दूर होती है और वातावरण में साकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।
शक्ति के नौ रूपों -मां शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चन्द्रघंटा, कूष्माण्डा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और मां सिद्धिदात्री की पूजा होती है।

 

1- ज्‍योतिषीय दृष्‍ट‍ि से चैत्र नवरात्रि विशेष महत्‍व है। चैत्र नवरात्रि में सूर्य का राशि परिवर्तन होता है।
2- सूर्य 12 राशियों का चक्र पूरा कर दोबारा मेष राशि में प्रवेश करते हैं और एक नये चक्र की शुरुआत करते हैं।
3- ऐसे में चैत्र नवरात्रि से ही हिन्दु नव वर्ष की शुरुआत होती है।
4- वित्तीय लिहाज से देखा जाए तो फाइनेंशियल ईयर भी अमूमन चैत्र नवरात्रि के दौरान ही शुरू होता है।

चैत्र नवरात्रि के वैज्ञानिक महत्‍व की बात करें तो यह समय मौसम परिवर्तन का होता है, इसलिए मानसिक सेहत पर इसका खासा प्रभाव देखने को मिलता है। इस समय में अक्सर लोगों के बीमार पड़ने की आशंका रहती है ऐसे में का व्रत करना शारीरिक और मानसिक सेहत के लिए लाभकारी हो सकता है।

नवरात्रि की शुरुआत घरों में साफ सफाई से होती है। घर के जिस स्थान पर आप कलश स्‍थापना करना चाहते हैं उस स्‍थान को अच्‍छी तरह साफ कर लें। मिट्टी के घरों में इसे गाय के गोबर से लीपकर पवित्र किया जाता है। लेकिन यदि आप शहर में है तो कलश स्‍थापना के स्थान को धुलने के बाद गंगाजल छिड़ककर पवित्र कर सकते हैं। ध्यान रहे कि कलश स्थापना और पूजा के उपयोग में आने वाले बर्तन जूठे न हों। स्‍थान को स्वच्छ और पवित्र करने के बाद एक लकड़ी का पटरा रखकर उस पर नया लाल कपड़ा बिछाएं। इसके साथ एक मिट्टी के बर्तन में जौ बो दें। इसी बर्तन के बीच में जल से भरा हुआ कलश रखें।

कलश का मुख खुला ना छोड़ें, उसे ढक्‍कन से ढक दें और कलश पर रखे ढक्कन पर चावल या गेंहूं से भर दें। इसके बाद उस पर नारियल रखें। इसके बाद कलश के पास दीपक जलाएं। आपका कलश मिट्टी या किसी धातु का बना हो सकता है।

चैत्र नवरात्रि के वैज्ञानिक महत्‍व की बात करें तो यह समय मौसम परिवर्तन का होता है, इसलिए मानसिक सेहत पर इसका खासा प्रभाव देखने को मिलता है। इस समय में अक्सर लोगों के बीमार पड़ने की आशंका रहती है ऐसे में का व्रत करना शारीरिक और मानसिक सेहत के लिए लाभकारी हो सकता है।

नवरात्रि की शुरुआत घरों में साफ सफाई से होती है। घर के जिस स्थान पर आप कलश स्‍थापना करना चाहते हैं उस स्‍थान को अच्‍छी तरह साफ कर लें। मिट्टी के घरों में इसे गाय के गोबर से लीपकर पवित्र किया जाता है। लेकिन यदि आप शहर में है तो कलश स्‍थापना के स्थान को धुलने के बाद गंगाजल छिड़ककर पवित्र कर सकते हैं। ध्यान रहे कि कलश स्थापना और पूजा के उपयोग में आने वाले बर्तन जूठे न हों। स्‍थान को स्वच्छ और पवित्र करने के बाद एक लकड़ी का पटरा रखकर उस पर नया लाल कपड़ा बिछाएं। इसके साथ एक मिट्टी के बर्तन में जौ बो दें। इसी बर्तन के बीच में जल से भरा हुआ कलश रखें।

कलश का मुख खुला ना छोड़ें, उसे ढक्‍कन से ढक दें और कलश पर रखे ढक्कन पर चावल या गेंहूं से भर दें। इसके बाद उस पर नारियल रखें। इसके बाद कलश के पास  जलाएं। आपका कलश मिट्टी या किसी धातु का बना हो सकता है।

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

  • टीकाकरण के निर्यात का स्वागत करती हॅू …… उपराष्ट्रपति कमला हैरि…
    सत्यम् लाइव, 27 सितम्बर 2021, दिल्ली।। मोदी जी की अमेरिका यात्रा पर अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस जी सम्बोधित करते हुए कहा कि इतिहास गवाह है कि जब हम दोनों देश एक दूसरे के साथ खड़े हुए हैं तब हमने अपने आपको […]
  • Yogesh Kumar Soniपत्रकारों की गलत भाषा व शैली चिंताजनक!
    सत्यम् लाइव, 27 सितम्बर 2021, दिल्ली।। किसी भी सरकार या नेता का विरोध करना कतई गलत बात नही हैं लेकिन कुछ मीडिया संस्थान या पत्रकार किसी भी बात या तथ्यहीन घटनाओं को लेकर जबरदस्ती अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए कुछ […]
  • गुलाब चक्रवात ओडिशा तट से टकराया
    सत्यम् लाइव, 27 सितम्बर, 2021 भुवनेश्वर।। बंगाल की खाड़ी में उठे गुलाब चक्रवात ने लैंडफाल प्रारम्भ हो गया है। मौसम विभाग के अनुसार रविवार शाम छह बजे से टकराना था जिसका असर लगभग तीन घंटे तक का हो सकता है। […]
  • बंगाल की खाड़ी से अब, उठ रहा गुलाब चक्रवात
    सत्यम् लाइव, 26 सितम्बर 2021, दिल्ली।। बंगाल की खाड़ी से उठ रहा गुलाब चक्रवाती तूफान बहुत तेजी के साथ ओडिशा और आंध्र प्रदेश की तरफ बढ़ रहा है। जिसके कारण बंगाल में भी भारी बारिश के आसार हैं। ओडिशा के गोपालपुर से […]
  • लाइफस्टाइल को प्रकृति के हिसाब से बदलना होगा …PM मोदी
    सत्यम् लाइव, 26 सितम्बर 2021, दिल्ली।। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से सम्बोधित किया जो 120 देशों में ब्रॉडकास्ट के जरिए प्रसारित किया गया। इस इवेंट पर ग्लोबल पर बोला। प्रधानमंत्री मोदी जी ने […]
  • प्रतापगढ़ सांसद को पीटा, कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं ने
    सत्यम् लाइव, 26 सितम्बर 2021, उत्तर प्रदेश।। प्रतापगढ़ में भाजपा सांसद और उसके साथियों को कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने रविवार दोपहर को लात.घूंसों से पीट दिया। रामपुर विधानसभा के सांगीपुर ब्लॉक में जन आरोग्य मेले चल […]
  • अक्टूबर से वैक्सीन निर्यात पर क्वाड मीट ने किया स्वागत
    सत्यम् लाइव, 25 सितम्बर 2021, दिल्ली।। प्रमुख न्यूज एजेन्सी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि विश्वस्त्र स्रोत्र से ज्ञात हुआ है कि भारत अक्टूबर में पुनः निर्यात कर सकता है वैसे ये बात अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस […]

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.