Breaking News
prev next

विश्व का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर जहाँ पर कोई हिन्दू नहीं

एक ऐसा देश जहां पर है विश्व का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर परिसर तथा विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक स्मारक है लेकिन वहां कोई हिन्दू नहीं है। यह एक ऐसा देश जिसके फ्लैग का चिन्ह भी हिन्दुओं का एक मंदिर है।

यह बात किसी से छुपी नही है कि हिन्दू धर्म विश्व का एकमात्र धर्म है, जो सबसे प्राचीन है। यह धर्म 12 हजार वर्ष से भी पुराना है। हिन्दू धर्म में मूर्ति पूजा और ध्यान पर विशेष जोर दिया जाता है। इस बात के कई सबूत पेश किये जाते हैं कि विश्व के कई देशों में पहले सनातन धर्म ही था।

अंकोरवाट मंदिर विश्व का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर है और यह विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक स्मारक है जो कम्बोडिया देश के अंकोर में है जो सिमरिप शहर में मीकांग नदी के किनारे बसा हुआ है तथा इसका फैलाव सेकड़ो वर्ग मील में है। यह हिन्दू देवता विष्णु का मंदिर है जबकि इसके पूर्ववर्ती शासको ने यहाँ बड़े-बड़े शिव के मंदिरो का निर्माण करवाया था। इसका पुराना नाम यशोधपुर था व इस मंदिर का निर्माण राजा सूर्यवर्मन द्वितीय के शासन काल 1112 से 1153 ईस्वी के दौरान बनवाया गया था। इस मंदिर के चित्र को कम्बोडिया के राष्ट्रीय ध्वज में छापा गया है। यह दुनिया के सबसे प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में से एक है। इसको यूनेस्को की विश्व धरोहर में शामिल किया गया है।

यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है, जो हिन्दुओं के आराध्य देव हैं। इंडोनेशिया के निवासी इसे पानी में डुबा हुआ मंदिर का बगीचा कहते हैं।

परन्तु सबसे बड़ा सवाल यह है कि जिस देश में विश्व का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर है जहाँ 100 फीसदी लोग हिन्दू धर्म को मानते थे तो आज वहां से हिन्दू कहाँ गायब हो गये है? कम्बोडिया देश जहाँ विश्व का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर तो है लेकिन वहां कोई हिन्दू लोग क्यों नहीं है? इतिहास के अनुसार लिखा गया है कि लोगों ने दूसरे धर्मों को अपना लिया है। आज इस देश में गिनती के ही हिन्दू बचे हुए हैं लेकिन विश्व का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर यही है।

कंबोडिया दक्षिण पूर्व एशिया का प्रमुख देश है, जिसकी जनसँख्या करीब 1.5 करोड़ है। पुर्वी एशिया में पहले भी 5 हजार से लेकर 1 हजार वर्ष तक के पुराने मंदिरों की खोज की जा चुकी है, जिससे भारत की प्राचीन वैभवशाली संस्कृति की झलक मिलती रही है। इन मंदिरों में अधिकतर मंदिर भगवान विष्णु के हैं। वैज्ञानिकों ने भी इस बात को स्वीकार किया है कि कई हजार साल में समुद्र का जलस्तर करीब 500 मीटर बढ़ा है। इससे साबित होता है कि राम-सेतु, द्वारका नगरी सरीखे स्थान आज भी मौजूद हैं और इनसे जुड़े पात्र भी सच हैं।

कहा जाता है की सालों पहले इस देश में हिन्दू धर्म का बोल बाला था। प्राचीन समय में इस देश का नाम कंबुज या कंबोज था जो एक संस्कृत नाम था। कंबोज की प्राचीन दंतकथाओं के अनुसार इस उपनिवेश की नींव आर्यदेश के राजा कंबु स्वयांभुव ने डाली थी। वह भगवान शिव की प्रेरणा से कंबोज देश में आए और यहाँ बसी हुई नाग जाति के राजा की सहायता से उन्होंने इस जंगली मरुस्थल में एक नया राज्य बसाया जो नागराज की अद्भुत जादूगरी से हरे भरे, सुंदर प्रदेश में परिणत हो गया था। कंबु ने नागराज की कन्या से विवाह कर लिया और कंबुज राजवंश की नींव डाली थी। परन्तु बाद में यहाँ पर विदेशी लोगों की नजर आई और उन्होंने यहाँ के हिन्दू लोगों का धर्म परिवर्तन तलवार के दम पर करा दिया। आज भी यह लोग दिल से खुद को हिन्दू ही मानते हैं।

 

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

  • लेबर अधिकारियों के इंस्‍पेक्‍शन में दिल्‍ली के शिक्षा मंत्री
    सत्‍यम् लाइव, 21 अक्‍टूबर 2020 दिल्‍ली।। दिल्‍ली के उपमुख्‍यमंत्री एवं शिक्षामंत्री मनीष सिसाैै‍दिया जी ने कल स्‍वयं पुष्‍प विहार के डिस्ट्रिक्‍ट लेबर कार्यालय का सरप्राइज इंस्‍पेक्‍शन किया। साथ ही ट्वीट करके लिखा […]
  • स्‍वस्‍थ जीवन के लिये घातक रसायनिक खाद्य
    सत्‍यम् लाइव, 20 अक्‍टूबर, 2020, दिल्‍ली।। इस कोरोना काल में लोगों को एहसास दिला दिया है कि शुद्ध शाकाहारी, स्वस्थ भोजन करने से अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को संतुलन करके ऐसे अनेको वायरस से बचा जा सकता है वैसे भी […]
  • श्रीरामवरदायनी माता सती का परीक्षा स्‍थल
    सत्‍यम् लाइव, 17 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। शरदीय नवरात्रि के शुभ अवसर माता सती द्वारा श्रीराम परीक्षा लेेने की कथा आप सबने सुनी होगी आज नवरात्रि के अवसर पर माता के उस स्‍थल का परिचय कराने का पुन: अवसर प्राप्‍त होता […]
  • कलाम को सलाम
    सत्‍यम् लाइव, 15 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। 15 अक्टूबर 1931 को धनुषकोडी गाँव (रामेश्वरम, तमिलनाडु) में एक मध्यमवर्ग मुस्लिम अंसार परिवार में इनका जन्म हुआ उनके पिता जैनुलाब्दीन मछुआरों को नाव किराये पर दिया करते थे। […]
  • ओडिशा-तेलंगाना में भारी बारिश से 15 मरे
    सत्‍यम् लाइव, 14 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। अभी भी बारिश का कहर रूका नहीं है एक तरफ कोरोना को लेकर 900 करोड रूपयेे विज्ञापन पर खर्चा किया जा रहा है तो दूसरी तरफ प्रकृति की विनााश लीला पूरी तरह से प्रारम्‍भ है। अभी […]
  • सोने पर सोना विवाद या प्रचार
    सत्‍यम् लाइव, 14 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। आज बदलते जमाने में सोच बदलने का प्रस्‍ताव बार बार दिया जाता है परन्‍तु भारतीय जनमानस अपनी सोच बदल नहीं सकता हैंं क्‍योंकि व्‍यक्ति चाहे जितने प्रयास कर ले, उसके अन्‍दर आने […]