Trending News
prev next

भाजपा का घोषणापत्र, कर्नाटक में किसानों की कर्ज माफी का वादा |

बेंगलुरु : भाजपा ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए अपना संकल्पपत्र जारी कर दिया। पार्टी ने राज्य में सरकार बनते ही उत्तर प्रदेश की तर्ज पर किसानों को एक लाख रुपए तक का कर्ज माफ करने वादा किया है। इसके साथ ही पार्टी ने महिलाओं और छात्रों को भी आकर्षित करने का प्रयास किया है।

बेंगलुरु में शुक्रवार को संकल्पपत्र (घोषणा पत्र) जारी करते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येद्दियुरप्पा ने कहा कि प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही सहकारी एवं सरकारी बैंकों से लिए गए एक लाख रुपए तक के कर्ज माफ कर दिए जाएंगे।

भाजपा के घोषणा पत्र में किसानों पर ज्यादा ध्यान दिया गया है। घोषणा पत्र में कृषि उत्पादों के मूल्यों में उतार-चढ़ाव से किसानों को होने वाले नुकसान से राहत देने के लिए 5000 करोड़ रुपए का विशेष “रैयता बंधु मार्केट इंटरवेशन” फंड बनाने की घोषणा की गई है। बंजर भूमि के मालिक किसानों को भी 10,000 रुपए नकद सहायता देने की घोषणा की गई है। हर खेत को पानी पहुंचाने के लिए सिंचाई योजनाओं पर 1,50,000 करोड़ रुपए खर्च करने का वादा भी किया गया है।

लोकायुक्त का अधिकार बहाल करेगी पार्टी :

सिद्धारमैया सरकार में लोकायुक्त के अधिकारों को लगभग खत्म कर दिया गया था। उसके स्थान पर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो का गठन किया गया था। भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में लोकायुक्त के अधिकारों को बहाल करने की बात कही है।

गाय पालन, संरक्षण को बढ़ावा देने पर जोर :

भाजपा के घोषणा पत्र में गाय पालन को संरक्षण एवं बढ़ावा देने पर भी जोर दिया गया है। घोषणा पत्र में गायों को बचाने के लिए गोहत्या निरोधक कानून को पुनर्जीवित करने एवं गाय पालन को बढ़ावा देने के लिए गोसेवा आयोग बनाने की घोषणा की गई है।

बीपीएल कन्याओं को तीन ग्राम सोने का मंगलसूत्र का वादा :

घोषणा पत्र में महिलाओं को रिझाने के लिए बीपीएल वर्ग की कन्याओं के विवाह के समय उन्हें तीन ग्राम सोने का मंगलसूत्र एवं 25,000 रुपए की सहायता देने की बात कही गई है। यही नहीं, गरीबी रेखा नीचे जीवन यापन करनेवाली महिलाओं को स्मार्ट फोन भी देने का वादा किया गया है।

कांग्रेस पहले ही जारी कर चुकी है घोषणा पत्र :

आपको बता दें कि कांग्रेस पहले ही अपना घोषणापत्र जारी कर चुकी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक में चुनावी घोषणापत्र जारी करते हुए कहा था कि ये बंद कमरे में नहीं, बल्कि लोगों की राय लेकर बनाया हुआ घोषणापत्र है। कांग्रेस की ओर से अपने घोषणापत्र में फ्री लैपटॉप, इंटरनेट, आईटी सेक्टर, अन्न भाग्य योजना जैसी कई बड़ी योजनाओं की घोषणा की गई हैं।

कर्नाटक का चुनावी रण जीतने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी धुंआधार प्रचार में जुटे हैं। गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी और राहुल गांधी के बीच जमकर जुबानी जंग देखने को मिली। पीएम मोदी ने कहा कि कर्नाटक की कांग्रेस सरकार सिद्धारमैया नहीं सिद्धा रुपैया सरकार है। तो वहीं राहुल भी जवाब देने में पीछे नहीं रहे।

गौरतलब है कि कर्नाटक में 12 मई को चुनाव हैं, ऐसे में चुनाव से पहले का यह एक हफ्ता सभी पार्टियों के लिए काफी अहम हैं। जहां आज चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गांधी कर्नाटक के कलबुर्गी, गजेंद्रगढ़ में रैली करेंगी। वहीं भाजपा की ओर से केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी प्रदेश में कई रैलियां करेंगे।

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.