Trending News
prev next

निजीकरण की राह पर ले जाने वाला है नई कैटरिंग पॉलिसी – मेधा पाटेकर -2


नई दिल्ली । रेलवे की खान पान नीतियों को लेकर समाजसेवी मेधा पाटेकर ने कई सवाल उठाए है। मेधा पाटेकर ने कहा कि रेलवे की नई कैटरिंग पालिसी एक तरह से रेलवे को निजीकरण की राह पर ले जाने वाला है। उन्होंने इस वर्ष से रेल बजट को मुख्य बजट के साथ समायोजित किये जाने पर भी सवाल उठाते हुए कहा किस इस कदम से रेलवे की स्वतंत्रता को समाप्त किया जा रहा है। मेधा पाटेकर ने यह बात आज यहां ‘अखिल भारतीय रेलवे खान-पान लाइसेंसिसीज वेलफेयर एसोसिएशन’ की ओर से आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कही। इस मौके पर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष रविन्द्र गुप्ता भी मौजूद थे।
मेधा पाटेकर ने कहा कि वह स्टेशनों पर खाने पीने का सामान बेचने वाले लाइसेंसी वेंडरों की रोजी रोटी बचाने के साथ-साथ ट्रेनों सफर करने वाले गरीब यात्रियों को सस्ते में खाने पीने का सामान उपलब्ध करना के लिए ‘रेल बचाव, यात्री बचाओं, खानपान आंदोलन’ में ‘हिंद मजदूर यूनियन’ का समर्थन देने का ऐलान किया। मेधा पाटेकर ने रेलवे की नई कैटरिंग पॉलिसी पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि नई नीति से स्टेशनों पर रोजगार पाने वाले एक लाख परिवार का रोजगार खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि आईआरसीटीसी को कैटरिंग का पूरा जिम्मा देने का मतलब बड़े प्राइवेट प्लेयर के हाथ में खान-पान का ठेका देना है। उन्होंने कहा कि बडे प्लेयर के आने के बाद यात्रियों को 10 रुपये के खाने का सामान 100/- रुपये में खरीदने की मजबूरी हो जाएगी। रेलवे की नई कैटरिंग पॉलिसी से आम आदमी सफर करेगा।
मेधा पाटेकरन ने कहा कि नई खान-पान नीति में सुप्रीम कोर्ट के आदेश की भी अवहेलना की जा रही है। उन्होंने कहा कि सभी यात्रियों तक तभी सस्ते में खाना उपलब्ध होगा जब स्टेशनों पर टॉली, खोमचा, लाइसेंसी वेंडरों को खाद्य पदार्थ बेचने की अनुमति मिलेगी। उन्होंने का कि एक साल में जितने लोग विमान में यात्रा करते है उतने लोग रेल से एक दिन में यात्रा करते है।अखिल भारतीय खान-पान वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष रविंद्र गुप्ता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि जब आप रोजगार दे नहीं सकते तो उसे छीनने का अधिकार नहीं है, बावजूद रेलवे ऐसे नियम बना रहा है कि लाइसेंसी वेंडरों का रोजगार खत्म हो जाए। उन्होंने कहा कि लाइसेंसी वेंडरों से कहा जा रहा है कि वे टेंडर तभी कर सकते है जब उनका टर्न ओवर 35 लाख रुपया का होगा, जबकि यह नामुमकिन है। इसका फायदा भी बड़े-बड़े प्लेयर को मिलेगा।

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

  • दिल्ली, खुले में प्राणायाम योग पर भी प्रतिबन्ध
    सत्यम् लाइव, 21 अप्रैल 2021, दिल्ली कोरोना वायरस के बढते कदम के कारण दिल्ली सरकार ने अगले 1 सप्ताह के लिये लॉकडाउन लगा दिया है और लगातार से यह बताया गया कि दिल्ली के व्यापार मण्डल ने ऐसी मॉग की है। दिल्ली के […]
  • घबराहट में दिल्ली छोड़ कर ना जायें …एलजी बैजल
    सत्यम् लाइव, 20 अप्रैल 2021, दिल्ली।। दिल्ली सरकार ने छह दिन का जो लॉकडाउन लगाया है इस खबर को सुनते ही दिल्ली से प्रवासी नागरिक अपने घरों की ओर लगातार लौट रहा है दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने प्रवासी से अपील की […]
  • राहुल गांधी हुए कोरोना पॉजिटिव
    सत्यम् लाइव, 20 अप्रैल 2021, दिल्ली।। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष एवं सांसद राहुल गांधी की कोरोना टेेस्‍ट कराया तोस्‍वयं को कोरोना पॉजिटिव पाया है। इस बात की जानकारी कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर दी।  […]
  • फिर से खाली हुुई दिल्ली
    सत्‍यम् लाइव, 20 अप्रैल 2021, दिल्ली।। करोना वायरस संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के कारण दिल्ली और उसके आस पास के क्षेत्र में इस संकट के बीच दिल्ली में 26 अप्रैल तक लाॅकडाउन लगाया गया है। यह लाॅकडाउन सोमवार 10 बजे से […]
  • 65 प्रतिशत जा पहुॅचा ऑनलाइन व्‍यापार
    सत्यम् लाइव, 18 अप्रैल 2021, दिल्ली।। भारतीय जनमानस के मन में कोरोना का भय तो कम दिखने को मिला परन्तु बाजार में भ्रमण करने के पश्‍चात् ये अवश्य सुनने को मिला कि ऑनलाइन पर जोर देकर सारे इसको परिणाम दिया जा रहा है और […]
  • करोना हम सभी को हो सकता है पर इस लेख पर ध्यान अवश्य दें- डॉ. मुरली सिंह
    सत्यम् लाइव, 15 अप्रैल, 2021, नई दिल्ली : कोरोना सबको हो सकता है पर ये ध्यान रहे कि हमारी मन:स्थिति कैसी है इसपर उसके होने वाले प्रभाव का असर पड़ता है । अमेरीका मे एक कैदी को जब फाँसी की सजा सुनाई गई तब वहाँ के कुछ […]
  • कोरोना काल में जनता को नाईट कर्फ्यू का पालन करवाना मेरी नैतिक जिम्मेदारी: …
    सत्यम् लाइव, 15 अप्रैल, 2021, नई दिल्ली : आउटर नॉर्थ डिस्ट्रिक्ट के भलस्वा डेरी के थानाध्यक्ष हरेंद्र सिंह बड़ी ही ईमानदारी और सजगता से नाइट कर्फ्यू का पालन करवाते हुए दिख रहे हैं । देखा गया की उन्होंने और उनके […]

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.