Trending News
prev next

दुनिया के 10 अविश्‍वसनीय मंदिर

कोटकोकू टेंपल:

जापान में स्‍थ‍ित कोटकोकू टेंपल मंद‍िर यहां स्‍थाप‍ित बुद्ध की व‍िशाल प्रत‍िमा के ल‍िए जाना जाता है। इस संरचना का वजन करीब 93 टन है। इतना ही नहीं इसकी लंबाई करीब 43.8 फुट है। एक बार में बड़ी संख्‍या में भक्‍त करीब से दर्शन कर लते हैं। यह जापान के विश्व प्रसिद्ध प्रतीकों में से एक है।

बैंचमबोफ‍िट टेंपल:

वाट बैंचमबोफ‍िट मंद‍िर देखने में बेहद खूबसूर‍त है। बैंकॉक का यह मंद‍िर पूरी दुन‍िया में मशहूर है। इसे मारबल टेंपल भी कहा जाता है। इतावली संगमरमर से न‍िर्मित यह एक बौद्ध मंदिर है। यहां पर बड़ी संख्‍या में पयर्टक आते हैं। इस मंद‍िर को देखने के बाद कुछ पलों के ल‍िए पलके झपकाने का मन नहीं होता है।

लोटस टेंपल:

लोटस टेंपल भारत की राजधानी द‍िल्‍ली में बना है। यह लोटस टेंपल यानी क‍ि कमल मंद‍िर बड़ी संख्‍या में पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केंद्र है। कमल के फूल के आकार में बना होने की वजह से इसे कमल मंद‍िर कहा जाता है। यह भी देखेने में बेहद खूबसूरत है।

गोल्‍डेन टेंपल:

भारत का गोल्‍डेन टेंपल यानी क‍ि स्वर्ण मंदिर भी पूरी दुन‍िया में प्रस‍िद्ध है। यहां पर भी बड़ी संख्‍या में लोग इसकी खूबसूरती न‍िहारने आते हैं। इसकी सबसे खास बात यह है क‍ि यह सोने का बना है। यहां आने वाले व‍िज‍िटर्स सूर्य से चमकते इस मंद‍िर को देख हैरान होते हैं।

नौवोयो इलिनोइस टेंपल:

यह नौवोयो इलिनोइस टेंपल भी बेहद खूबसूरत है। यह चर्च के जीसस क्राइस्‍ट के बाद संतों द्वारा बनवाया गया दूसरा मंद‍िर था। इस मंदिर का न‍िर्माण चूना पत्थरों के ब्लॉक के जर‍िए बेहद शानदार ढंग से क‍िया गया था। यह मंद‍िर करीब 130 फुट लंबा, 162 फुट ऊंचा और 90 फुट चौड़ा है।

हैवेन टेंपल:

यह हैवेन टेंपल यानी क‍ि स्‍वर्ग मंद‍िर बीजिंग में स्‍थ‍ित‍ है। यह मंद‍िर 14 वीं शताब्दी में निर्मित माना जाता है। हैवेन टेंपल की खूबसूरती देखने के ल‍िए दुन‍िया भर से बड़ी संख्‍या में पयर्टक आते हैं। इस मंद‍िर को लेकर भक्‍तों के बीच मान्‍यता है क‍ि स्वर्ग के बीच का प्रतीक है।

सेंट सावा टेंपल:

बेलग्रेड में बने सेंट सावा टेंपल को देखकर भी आंखे हैरान होती हैं। यह मंद‍िर भी काफी खूबसूरत है। इसे चर्च भी कहा जाता है। बेलग्रेड की प्रमुख स्‍थलों में से एक सेंट सावा चर्च दुनिया में सबसे बड़ा रूढ़िवादी चर्च कहा जाता है। आज दुन‍िया के कई ह‍िस्‍सों में सेंट सावा के चर्च बन चुके हैं।

वाट रोंग खुन टेंपल:

थाईलैंड के वाट रोंग खुन टेंपल को व्‍हाइट मंद‍िर भी कहा जाता है। व‍िज‍िटर्स के ल‍िए यह 1997 में खोला गया। इसे ड‍िजाइन करने वाले और बनाने वाले चाल्र्माचै कोस्तिपिपत ही इसके माल‍िक है। मंद‍िर तक जाने के ल‍िए एक पुल पार करना होता है। यह पुल खुशी और पुनर्जन्म के चक्र का प्रत‍िन‍िधत्‍व करता है।

मंकी टेंपल:

यह मंकी टेंपल यानी कि‍ बंदर मंदिर नेपाल में बना हैं। इसे स्वयंभूनाथ के रूप में भी जाना जाता है। यहां पर मंदिर के उत्तर-पश्चिम भाग में बहुतायत बंदर पाए जाते हैं। सबसे खास बात तो यह है क‍ि इस मंद‍िर के गुबंद में जानवरों को व‍िशेष स्‍थान द‍िया गया है।

गारनी टेंपल:

अर्मेन‍िया का गारनी टेंपल त्रि‍कोणीय चट्टान के किनारे पर स्थित है। यह बनावट में दूसरे मंद‍िरों से काफी अलग है। इस मंद‍िर को यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल में शाम‍िल क‍िया जा चुका है। गार्नी टेंपल को देखने पर शास्त्रीय प्राचीन यूनानी वास्तुकला की शैली को करीब से देखने का मौका म‍िलता है।

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


5 × three =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.