Trending News
prev next

दिल्ली में स्कूटर-बाइक से हुई राशन की ढुलाई

दिल्ली: दिल्ली में राशन वितरण में बड़ी नियमितता नहीं है। बिहार के चारा घोटाले की तरह दिल्ली में भी बाइक और टेंपो पर अनाज ढोया गया। सीएजी रिपोर्ट में कहा गया है कि एफ़सीआई गोदाम से राशन वितरण केंद्रों पर 1589 क्विंटल राशन की ढुलाई के लिए आठ ऐसी गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया, जिनका रजिस्ट्रेशन नंबर बस, टेंपो और स्कूटर-बाइक का था।

42 गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन ही नहीं
हैरानी की बात ये है कि इन गाड़ियों पर इतनी बड़ी मात्रा में अनाज की ढुलाई नहीं हो सकती। इसके अलावा, सीएजी की रिपोर्ट के मुताबिक, 2016-17 में जिन 207 गाड़ियों को राशन ढुलाई के काम में लाया गया, उनमें 42 के रजिस्ट्रेशन ही नहीं हैं। इसके आधार पर कैग ने अपनी रिपोर्ट में यह शक जताया है कि वास्तव में राशन का वितरण हुआ ही नहीं और अनाज चोरी की आशंका से इनकार नहीं जा सकता है।

सीएजी रिपोर्ट पर तेज़ हुई सियासत
दिल्ली में अनियमितताओं पर सीएजी रिपोर्ट में हुए खुलासे के बाद सियासत भी तेज़ हो गई है। सीएजी रिपोर्ट सामने आने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि कैग की तरफ उजागर भ्रष्टाचार या अनियमितता के हर मामले में दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. किसी को भी नहीं बख़्शा जाएगा।

केजरीवाल के एलजी पर निशाना
सीएम केजरीवाल ने ट्वीट कर उपराज्यपाल अनिल बैजल पर भी निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि डोर स्टैप डिलीवरी (घर-घर राशन) की डिलीवरी की योजना को ख़ारिज कर उप राज्यपाल इन चीज़ों को संरक्षण देने की कोशिश कर रहे हैं। पूरा राशन सिस्टम माफ़िया की जद में है, जिन्हें राजनीतिक संरक्षण मिला हुआ है। घर-घर डिलीवरी से ये माफ़िया ख़त्म हो जाते।

कांग्रेस का हल्लाबोल
कैग की रिपोर्ट आने के बाद कांग्रेस ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। दिल्ली कांग्रेस के नेता जेपी अग्रवाल ने कहा कि स्कूटर और मोटरसाइकिल पर अनाज की ढुलाई इस बात की ओर इशारा करती है कि अनाज लोगों तक पहुंचा ही नहीं। इस घोटाले की जांच सीबीआई से करायी जानी चाहिए।

बीजेपी ने किया हमला
कैग रिपोर्ट में गड़बड़ियों के मसले पर विधानसभा में विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि जो भ्रष्टाचार को मिटाने का दावा करते थे, उनकी नाक के नीचे से यह सब कुछ हो रहा है। उन्होंने कहा कि अगर यह कहा जाये कि इसमें सरकार की मिलीभगत है, तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।

 

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.