Trending News
prev next

जानिए देश के कुछ अमीर मंदिरो के बारे में

नई दिल्ली: आज भी भारत में ऐसे कई मंदिर मौजूद हैं जिनका वैभव विदेशी आक्रांताओं के सभी हमले झेलने के बावजूद भी बना हुआ है। कुछ ऐसे भी मंदिर हैं जिन्होंने हाल के दिनों में आपार धन चढ़ावे में अर्जित किया है और उनके वैभव व चकाचौंध ने उन्हें देश के अमीर मंदिरों में से एक बना दिया है। इनमें से ही एक है वैष्णो देवी का मंदिर, जहां हर साल लाखों श्रद्धालु आते हैं पीएम मोदी शनिवार को यहां आने वाले भक्तों को एक नए और छोटे रास्ते के रूप में नया तोहफा देने वाले हैं। यह रास्ता 9 किलोमीटर लंबा है और पीएम आज इसका औपचारिक उद्घाटन करेंगे।

इससे पहले श्राइन बोर्ड प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने नए ताराकोट मार्ग के प्रवेशद्वार के प्रतीक्षा हॉल में विधिवत पूजा-अर्चना की, जिसके बाद देशभर से मां वैष्णो देवी के दर्शन को आए श्रद्धालुओं को इस मार्ग पर आने-जाने की अनुमति दे दी थी। बाणगंगा से अर्धकुंवारी तक 6 किलोमीटर का ट्रैक और कटरा से भवन तक एक टट्टू मुक्त मार्ग हैं जो विशेष रूप से तीर्थ यात्री उपयोग करेंगे। मार्ग की चौड़ाई करीब 20 मीटर है। आइये अब एक नजर डालते हैं इस मंदिर के साथ साथ देश के कुछ दूसरे बड़े और अमीर मंदिरों पर जिनकी धार्मिक मान्यता है।

वैष्णो देवी मंदिर, जम्मू
हर वर्ष लाखों श्रद्धालु माता वैष्णो देवी की गुफा में दर्शन को पहुंचते हैं और पैसे और अन्य वस्तुएं दान में चढ़ाते हैं। एक अनुमान के मुताबिक उत्तर भारत के इस प्रमुख मंदिर की सलाना आमदनी 500 करोड़ रुपए है।

सिद्धिविनायक मंदिर, मुंबई
आपको जानकर हैरानी होगी कि यहां रोजाना करीब 25 हजार रुपए से लेकर 2 लाख रुपए तक का चढ़ावा चढ़ता है। यहां पर काले पत्थर के बने हुए गणेश भगवान की मूर्ति पर सबसे ज्यादा दान चढ़ाया जाता है। ये मूर्ति करीब 200 साल पुरानी है. मंदिर की वार्षिक आमदनी 48 करोड़ रुपए से 125 करोड़ रुपए के बीच है।

पद्मनाभस्वामी मंदिर, केरल
इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि त्रावणकोर राजघराने ने इस मंदिर पर सोने और कई कीमती जेवरों को चढ़ाया था। जिसके बाद यहां जेवर दान करने की मान्यता ने जन्म लिया। यहां ज्यादातर मूर्तियां सोने की बनी हुई है। कहते हैं यहां विष्णु भगवान की मूर्ति की कीमत 500 करोड़ रुपए है। यहां भी रोजाना लाखों का चढ़ावा आता है।

तिरुमाला तिरुपति वेंकटेश्वर मंदिर, आंध्र प्रदेश
इस मंदिर में रोजाना 60,000 भक्त आते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि लाखों के चढ़ावे के साथ यहां प्रसाद के लड्डू बेचकर सालाना करीब 75 करोड़ रुपए की आमदनी होती है। जबकि मंदिर को दान से साल भर में 650 करोड़ रुपए प्राप्त होते हैं।

साई बाबा धाम, शिरडी
यहां पर दुनिया भर से भक्तजन बाबा के दर्शन करने आते हैं। साल भर के चढ़ावे से 360 करोड़ रुपए की आमदनी होती है। यहां पर कुछ सालों पहले हीरे के दो नेकलेस भी दान पेटी से मिले थे। जिनकी कीमत 92 लाख रुपए थी।

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

  • प्रतापगढ़ सांसद को पीटा, कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं ने
    सत्यम् लाइव, 26 सितम्बर 2021, उत्तर प्रदेश।। प्रतापगढ़ में भाजपा सांसद और उसके साथियों को कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने रविवार दोपहर को लात.घूंसों से पीट दिया। रामपुर विधानसभा के सांगीपुर ब्लॉक में जन आरोग्य मेले चल […]
  • अक्टूबर से वैक्सीन निर्यात पर क्वाड मीट ने किया स्वागत
    सत्यम् लाइव, 25 सितम्बर 2021, दिल्ली।। प्रमुख न्यूज एजेन्सी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि विश्वस्त्र स्रोत्र से ज्ञात हुआ है कि भारत अक्टूबर में पुनः निर्यात कर सकता है वैसे ये बात अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस […]
  • व्यापार में एक-दूसरे के पूरक हैं भारत, अमेरिका …..मोदी
    सत्यम् लाइव, 25 सितम्बर 2021, दिल्ली।। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की शुक्रवार को प्रारम्भ हुई अमेरिकी यात्रा में, द्विपक्षीय मुलाकात के लिए व्हाइट हाउस पहुंचे। यहां दोनों के बीच ओवल ऑफिस में बैठक सम्पन्न […]
  • दिल्ली के रोहिणी कोर्ट शूटआउट का वीडियो वायरल
    सत्यम् लाइव, 24 सितम्बर 2021, दिल्ली।। राजधानी दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में पेशी के लिये आये गैंगेस्‍टर गोगी की मौत हो गयी है। इन बदमाश के साथ पुलिस की गोली बारी में तीन लोगों की मौत की जानकारी प्राप्त हो रही […]
  • इटावा रीजन: मुख्यालय प्रवर्तन दल ने 9 बिना टिकट यात्रा पकड़े
    सत्यम लाइव, 24सितंबर 2021, उत्तर प्रदेश।। इटावा रीजन के मुख्यालय प्रवर्तन दल ने गाड़ी संख्या यूपी 32 जे.टी. 6656 ने दिल्ली से मैनपुरी जा रही मैनपुरी डिपो की बस संख्या यूपी 84 टी 5068 में जांच की तो बस में 9 यात्री […]
  • LPG: गैस सब्सिडी पर कर सकती सरकार नया प्लान
    सत्यम् लाइव, 23 सितम्बर 2021, दिल्ली।। एलपीजी रसोई गैस को लेकर विश्वस्त सूत्रों से लगातार खबर आ रही है कि गैस सिलेण्डर अब 1000 रूपये का होगा और साथ में ये भी कहा जा रहा है कि चुनिंदा उपभोक्ताओं को भी सब्सिडी का लाभ […]
  • अनाचार, अपमान व्यंग्य की चुभती हुई कहानी दिल्ली …दिनकर
    सत्यम् लाइव, 23 सितम्बर 2021, सितम्बर, दिल्ली।। वैसे तो किसी भी महापुरूष को आज उसके जन्मदिवस पर याद करने की औपचारिकता निभाई जाती है शेष दिनों में तो उनके कथन के विरोध में काम किया जाता है। वैसे ही आज के दिन की जब […]

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.