Trending News
prev next

जकरबर्ग ने कहा- भारत में चुनाव से पहले करेंगे डेटा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

वॉशिंगटन: डेटा लीक विवाद में फंसे फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने कहा है कि भारत जैसे देशों में आने वाले चुनावों की निष्पक्षता सुनिश्चित करने के लिए फेसबुक अपनी सेक्योरिटी और सर्विस को बेहतर करेगा. ये बयान जकरबर्ग की तरफ से उस वक्त आया है जब इस साल 2016 में हुए अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में पॉलिटिकल फर्म कैम्ब्रिज एनालिटिका पर फेसबुक यूजर्स के डेटा चुराकर चुनाव प्रभावित करने का आरोप है.

जकरबर्ग ने ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ को दिए इंटरव्यू में कहा, “खबरों के साथ छेड़छाड़ की कोशिश और चुनावों को प्रभावित करने वाले फर्जी फेसबुक अकाउंट की पहचान करने के लिए फेसबुक ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) बेस्ड टू ल बनाएंगे. इस तरह के टूल का इस्तेमाल पहली बार 2017 में फ्रांस चुनाव में किया गया था.

जकरबर्ग ने कहा, ” हमारा ध्यान केवल अमेरिकी चुनाव तक नहीं है बल्कि भारत, ब्राजील में होने वाले चुनाव और इस साल होने वाले अन्य चुनाव पर भी है, जो कि बहुत ही महत्वपूर्ण हैं.”

उन्होंने कहा, ” नए एआई टूल को हमने 2016 चुनावों के बाद बनाया और पाया कि 30,000 से अधिक फर्जी खाते हैं जो रूसी सूत्रों से जुड़े हैं और वे उसी रणनीति के तहत काम करने की कोशिश कर रहे थे जैसा उन्होंने अमेरिका में 2016 के चुनाव में किया गया था. हम इन फर्जी खातों को हटाने में कामयाब हुए हैं.

जकरबर्ग ने कहा, ” पिछले साल अलबामा में हमने फर्जी अकाउंट और गलत खबरों की पहचान के लिए कुछ नए एआई टूल पेश किए थे और हमें बड़ी संख्या में मैसेडोनिया अकाउंट का पता चला, जो कि फर्जी खबरें फैला रहे थे और हमने उन्हें बंद किया.

उन्होंने आगे कहा, “मैं बेहतर सिस्टम के बारे में विचार कर रहा हूं. ऐसे समय में, जब मेरा मानना है कि रूस और अन्य सरकारें जो भी काम करती हैं, उसे और सूझ-बूझ से करने जा रहे हैं. इसलिए हमें यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि हम सिस्टम को और अधिक मजबूत बनाएं.

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि रूस जैसे देशों का चुनाव में हस्तक्षेप को कठिन बनाने के लिए फेसबुक को बहुत काम करने की जरुरत है ताकि ट्रोल और अन्य लोग फर्जी खबरें नहीं फैला सकें.

आपको बता दें कि गुरुवार को भारत के आईटी मंत्री ने फेसबुक को चेताया था कि अगर उसकी ओर से देश की चुनावी प्रक्रिया को प्रभावित करने की कोशिश की गई तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. यह भी कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो जकरबर्ग को समन किया जाएगा.

 

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.