Breaking News
prev next

काजल इस तरह आंखों की खूबसूरती बढ़ाता है

नई दिल्ली: काजल को बहुत पुराने समय से एक महत्वपूर्ण ब्यूटी प्रोडक्ट के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है. आजकल कई तरह के केमिकल युक्त काजल बाजार में मिलने लगे हैं. पहले महिलाएं अपनी आंखों में काजल लगाने के लिए उन्हें घर पर ही बनाया करती थीं.

आज हम आपको काजल के उन तथ्यों से अवगत कराएंगे जो आपको इसके इस्तेमाल पर स्वास्थ्य लाभ के रूप में मिलते हैं. आपकी खूबसूरती बढ़ाने के अलावा ये कई तरह की समस्याओं से बचाने में भी आपकी मदद करते हैं.

आंखे दिखती हैं बड़ी

बड़ी-बड़ी आंखें बेहद खूबसूरत लगती हैं. काजल लगाने से आपकी आंखें थोड़ी बड़ी दिखाई देती हैं. साथ ही इससे आपकी आंखों को शेप भी मिलती है जिससे उनकी सुंदरता और बढ़ जाती है.

आंखों की बढ़ती है रोशनी

घर के बने रसायनरहित काजल हमारी आंखों के लिए बहुत लाभकारी होते हैं. अगर इनका नियमित रूप से इस्तेमाल किया जाए तो यह आंखों की रोशनी बढ़ाने में मददगार होती हैं.

सूर्य-किरणों के दुष्प्रभाव से रक्षा

कई बार धूप में ज्यादा देर तक रहने की वजह से आपकी आंखें लाल हो जाती हैं और उनमें पानी आने लगता है. ऐसे में काजल का इस्तेमाल आपको इस समस्या से पूर्णतः निजात दिलाने में मदद करता है. यह सूरज की किरणों से आंखों पर पड़ने वाले दुष्रभाव को रोकने का काम करता है.

आंखों को ठंडक पहुंचाता है

आज की जीवनशैली में जैसै-जैसे प्रतिद्वंदिता बढ़ रही है वैसे-वैसे लोगों के काम का वक्त भी बढ़ रहा है. जो लोग देर रात तक कंप्यूटर या फिर लैपटाप पर काम करते हैं उनके लिए काजल विशेष लाभकारी है. यह आंखों को ठंडक तथा आराम पहुंचाता है.

आंखों की कई समस्याओं का इलाज

ऐसा माना जाता है कि काजल का इस्तेमाल मोतियाबिंद और रतौंधी जैसे रोगों के उपचार में भी कारगर होता है. यह आंखों में आने वाली धूल को हटाता है तथा कीट-पतंगों से भी आंखों की सुरक्षा करता है.

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

  • श्रीरामवरदायनी माता सती का परीक्षा स्‍थल
    सत्‍यम् लाइव, 17 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। शरदीय नवरात्रि के शुभ अवसर माता सती द्वारा श्रीराम परीक्षा लेेने की कथा आप सबने सुनी होगी आज नवरात्रि के अवसर पर माता के उस स्‍थल का परिचय कराने का पुन: अवसर प्राप्‍त होता […]
  • कलाम को सलाम
    सत्‍यम् लाइव, 15 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। 15 अक्टूबर 1931 को धनुषकोडी गाँव (रामेश्वरम, तमिलनाडु) में एक मध्यमवर्ग मुस्लिम अंसार परिवार में इनका जन्म हुआ उनके पिता जैनुलाब्दीन मछुआरों को नाव किराये पर दिया करते थे। […]
  • ओडिशा-तेलंगाना में भारी बारिश से 15 मरे
    सत्‍यम् लाइव, 14 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। अभी भी बारिश का कहर रूका नहीं है एक तरफ कोरोना को लेकर 900 करोड रूपयेे विज्ञापन पर खर्चा किया जा रहा है तो दूसरी तरफ प्रकृति की विनााश लीला पूरी तरह से प्रारम्‍भ है। अभी […]
  • सोने पर सोना विवाद या प्रचार
    सत्‍यम् लाइव, 14 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। आज बदलते जमाने में सोच बदलने का प्रस्‍ताव बार बार दिया जाता है परन्‍तु भारतीय जनमानस अपनी सोच बदल नहीं सकता हैंं क्‍योंकि व्‍यक्ति चाहे जितने प्रयास कर ले, उसके अन्‍दर आने […]
  • सब प्राइवेट तो टैक्‍स क्‍यूॅ … कुमार विश्‍वास
    सत्‍यम् लाइव, 13 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। कुमार विश्‍वास जी ने आज ट्वीट पर लिखा कि जब सब कुछ प्राइवेट किया जा रहा है तो फिर टैक्‍स सरकार को क्‍या दिया जाये? पूरा विवरण करते हुए लिखा है कि बिजली प्राइवेट/पानी […]
  • दिव्यांग छात्रा को जिलाधिकारी ने प्रदान की व्हीलचेयर
    सत्‍यम् लाइव, 13 अक्‍टूबर 2020, दिल्‍ली।। कौशाम्बी जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह द्वारा सोमवार को दिव्यांग छात्रा सुश्री साकरीन बानो पुत्री यातीम उल्ला निवासिनी ग्राम सयारा मीठेपुर तहसील सिराथू को व्हीलचेयर प्रदान की […]