Breaking News
prev next

कलेक्टर के खिलाफ कार्रवाई, हर पर्ची में भाजपा मिल वोट

भोपाल: मध्य प्रदेश के अटेर विधानसभा उपचुनाव के समय वोटर वेरीफायबल पेपर ऑडिट ट्रेल के प्रदर्शन में हुई लापरवाही के चलते प्रदेश सरकार ने भिंड कलेक्टर इलैया राजा टी. को आरोप पत्र थमा दिया है। दरअसल, वीवीपैट के प्रदर्शन के दौरान, जितनी भी वोटर स्लिप निकली थीं, उनमें से ज्यादातर भाजपा के पक्ष में जाती हुई दिखाई दी थीं।

कलेक्‍टर के खिलाफ होगी कार्रवाई

इस मामले को चुनाव आयोग ने गंभीरता से लेते रिपोर्ट तलब की थी। इसके आधार पर सरकार को कार्रवाई करने कहा था। सरकार ने कलेक्टर के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने का फैसला किया है। इसके मद्देनजर सामान्य प्रशासन विभाग ने आरोप पत्र जारी किया है।

अधिकतर पर्ची भाजपा के पक्ष में, पैदा हुआ भ्रम

गौरतलब है कि 31 मार्च 2017 को अटेर विधानसभा उपचुनाव में वीवीपैट का उपयोग होने और लोगों को इसकी जानकारी देने को मशीन का प्रदर्शन किया गया था। इस दौरान मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। मशीन के प्रदर्शन के दौरान जितनी भी मतदाता पर्ची निकलीं, उसमें अधिकांश मत भाजपा को जाते हुए नजर आए। इसको लेकर मीडिया ने सवाल खड़े कर दिए। इससे वीवीपैट को लेकर भ्रम का माहौल पैदा हो गया था, जिसे देखते हुए चुनाव आयोग ने रिपोर्ट तलब कर ली थी।

वीवीपैट मशीन में पहले से दर्ज थे मत, बरती गई लापरवाही

रिपोर्ट में बताया गया कि मशीनें उत्तर प्रदेश से आई थीं और उसमें पहले से मत दर्ज थे। नियमानुसार मशीनों को खाली करना था, पर इसमें लापरवाही बरती गई। आयोग ने मामले को गंभीर मानते हुए सरकार से कलेक्टर के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा था। इसके मद्देनजर सरकार ने घटना के लगभग एक साल बाद अखिल भारतीय सेवाएं (आचरण) नियम 1969 के तहत अनुशासनात्मक कार्रवाई करने का फैसला करते हुए कलेक्टर को आरोप पत्र जारी कर दिया है।

2019 लोकसभा चुनावों में वीवीपैट

ईवीएम से छेड़छाड़ पर हंगामे के बाद चुनाव आयोग ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर 2019 लोकसभा चुनाव में वीवीपैट मशीनों के इस्तेमाल की बात कही और पत्र लिखकर 3 हज़ार 174 करोड़ रुपये की मांग की ताकि हर ईवीएम मशीन के साथ वीवीपैट मशीन को जोड़ा जा सके।

वोट वैरिफिकेशन पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट)

वीवीपैट को ईवीएम के साथ जोड़ा जाता है। वोटिंग के दौरान वोटर जैसे ही ईवीएम में अपने प्रत्याशी के पक्ष में बटन दबाता है उसका प्रिंट स्लिप इस वीवीपैट मशीन से निकलता है और सुरक्षित होता जाता है। जहां मतगणना के समय ईवीएम खराब होने की शिकायत मिलती है या दोबारा वोटों की गिनती की जरूरत पड़ती है तो इन्हीं स्लिप के माध्यम से दोबारा गणना हो जाती है।

 

विज्ञापन

अन्य ख़बरे

  • कलयुगी गंगाजल है सैनेटाइजर
    अपनी संस्‍कृृ‍ति और सभ्‍यता को पहचानने के लिये पहले भगवान और गंगाजल को गंगा मॉ समझना जरूरी है। सत्‍यम् लाइव, 13 सितम्‍बर 2020, दिल्‍ली।। भारतीय शास्‍त्रों में गंगाजल की महत्‍ता इतनी वयां की गयी है कि मुस्लिम शासक […]
  • किसान ट्रेन से फायदा किसान को होगा?
    सत्‍यम् लाइव, 12 सितम्‍बर 2020, दिल्‍ली।। शुक्रवार सुबह आंध्र प्रदेश के अनंतपुर से चल दिल्‍ली के आदर्श नगर रेलवे स्टेशन पहुंची है इस रेल का नाम किसान रेल है जिस पर 332 टन फल और सब्जियां लाई गईं। 36 घंटों के लम्‍बे […]
  • कृषक मेघ की रानी दिल्‍ली.. दिनकर जी
    सत्‍यम् लाइव, 11 सितम्‍बर 2020, दिल्‍ली।। आपदा को अवसर में तब्‍दील कर देने वाले प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी जी की सरकार और किसानों के बीच एक बार फिर से संघर्ष प्रारम्‍भ हो चुका है। अवसरवादी भारत की सरकारेंं कृषि […]
  • स्‍कूल के नियमों पर जटिल प्रश्‍न
    भययुक्‍त शिक्षक, भयमुक्त समाज नहीं बनाता ”वासुधैव कुटुम्‍बकम्” की भावना समाप्‍त करती आज की शिक्षा व्‍यवस्‍था कलयुगी सैनेटाइजर ने युग के गंगाजल का स्‍थान ले रही है। कारण शिक्षा व्‍यवस्‍था भारतीय संस्‍कार […]
  • स्‍कूल और कॉलेज खोलने का ऐलान
    सत्‍यम् लाइव, 9 सितम्‍बर 2020, दिल्‍ली।। यूपी में लॉकडाउन खत्म करने के बाद अनलॉक-4.0 के तहत अब स्कूल-कॉलेज खोलने की तैयारी है। 21 सितंबर से 9वीं से 12वीं कक्षा के छात्र कुछ शर्तों के साथ स्कूल जा सकेंगे। केंद्र […]
  • नेत्रदान पर जागरूक अभियान
    सत्‍यम् लाइव, 8 सितम्‍बर 2020, दिल्‍ली।। उत्तराखंड प्रांत इकाई के संयुक्त तत्वाधान में नेत्र की क्रिया विधि एवं नेत्रदान का महत्व विषय पर एक राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया गया।वेबीनार के मुख्य अतिथि सक्षम के […]