Breaking News
prev next

आशुतोष ने आप पार्टी से अपना इस्तीफा दिया

नई दिल्ली  पत्रकारिता छोड़ राजनीति में आए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बेहद करीबी आशुतोष एक बार फिर से पत्रकारिता में लौट सकते हैं। ताजा जानकारी के मुताबिक, उन्होंने आम आदमी पार्टी (AAP) से इस्तीफा दे दिया है।

सूत्रों की मानें तो उन्होंने कुछ महीने पहले ही आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया था, लेकिन केजरीवाल ने अभी तक इसे मंजूर नहीं किया है। आशुतोष की इस्तीफा जैसे ही मीडिया की सुर्खियां बना तो सीएम केजरीवाल ने तत्काल ट्वीट कर कहा है- ‘हम आपका इस्तीफा कैसे स्वीकार कर लें? ना इस जनम में तो नहीं।’

इसके कुछ देर बाद केजरीवाल ने एक और भावुक अपील करके आशुतोष से AAP नहीं छोड़ने की अपील की। अपने ट्वीट में केजरीवाल ने लिखा- ‘सर, हम सब आपको बहुत प्यार करते हैं।’ इसके साथ ही केजरीवाल ने एक पुरानी फोटो भी लगाई है, जिसमें वे आशुतोष के साथ गले मिलते नजर आ रहे हैं।

इससे पहले इस्तीफे के बाबत आशुतोष मीडिया के सामने भी आए। उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआइ से कहा कि AAP के साथ मेरी यात्रा खत्म हुई। मैंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। मैंने पार्लियामेंट अफेयर्स कमेटी (PAC) से गुजारिश की है कि मेरा इस्तीफा स्वीकार किया जाए।

आशुतोष ने इस्तीफे के मद्देनजर एक भावुक ट्वीट भी किया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है- ‘हर यात्रा का एक अंत होता है। इस्तीफा बहुत निजी कारणों से दिया है। सभी पार्टी नेताओं का शुक्रिया अदा करता हूं, जिन्होंने मुझे सपोर्ट किया।’

पहले कहा जा रहा था कि आशुतोष जल्द ही सार्वनजनिक तौर पर AAP छोड़ने की घोषणा करेंगे। अब इसके पीछे उन्होंने निजी वजह बताई है। इस बीच दिल्ली सरकार में मंत्री और AAP के वरिष्ठ नेता गोपाल राय का पार्टी की ओर से पहला बयान आया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि आशुतोष का फैसला दुखद है।

इससे पहले पार्टी ने कहा था कि आशुतोष अपनी किताब लिख रहे हैं, उसने अक्टूबर तक व्यस्त रहने की बात कही है। पार्टी के सूत्र बताते हैं कि आशुतोष पिछले कई महीने से पार्टी में सक्रिय भागेदारी नहीं निभा रहे थे।

कुमार विश्वास ने केजरीवाल को बताया शिशुपाल

वहीं, AAP कुमार विश्वास ने आशुतोष के इस्तीफे को लेकर अरविंद केजरीवाल पर तंज कसा है। कुमार विश्वास ने ट्वीट कर कहा-‘हर प्रतिभासम्पन्न साथी की षड्यंत्रपूर्वक निर्मम राजनैतिक हत्या के बाद एक आत्ममुग्ध असुरक्षित बौने और उसके सत्ता-पालित, 2G धन लाभित चिंटुओं को एक और “आत्मसमर्पित-क़ुरबानी” मुबारक हो! इतिहास शिशुपाल की गालियां गिन रहा है। आज़ादी मुबारक।’ बता दें कि कुमार विश्वास का यह ट्वीट अरविंद केजरीवाल पर तंज की तरह है। ट्वीट में कुमार विश्वास ने ट्वीट में केजरीवाल को महाभारत का शिशुपाल तक कह दिया है। शिशुपाल महाभारत का वह पात्र है, जिसकी 100 गालियां पूरी होने पर भगवान कृष्ण ने दंड स्वरूप उसका वध कर दिया था।

आशुतोष के इस्तीफे पर भाजपा ने भी अपना प्रतिक्रिया देते हुए केजरीवाल को कटघरे में खड़ा किया है। सदन में विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि आम आदमी पार्टी में जो लोग उत्साह से नौकरी तक छोड़कर आए थे वह अब निराश होकर इसे छोड़ रहे हैैं।

आशुतोष ने 2014 में ज्वाइन की थी AAP

बता दें कि वर्ष 2014 में आशुतोष ने पत्रकारिता को विदा कह राजनीति में आए थे। आम आदमी पार्टी में शामिल हुए थे। वे AAP के संस्थापक सदस्यों में से एक हैं। उस समय उनके साथ कैप्टन गोपीनाथ, मीरा सान्याल, किरण बेदी, प्रशांत भूषण, शाजिया इल्मी, कुमार विश्वास जैसे लोग भी आप के साथ जुड़े थे, लेकिन वे सभी भी पार्टी छोड़ चुके हैं। आशुतोष ने 2014 लोकसभा चुनाव के समय दिल्ली के चांदनी चौक से चुनाव भी लड़ा था। लेकिन इस चुनाव में तीन लाख से अधिक वोट लाने के बावजूद हर्षवर्धन से चुनाव हार गए थे।

गांधी-नेहरू पर कर चुके हैं अभद्र टिप्‍पणी

आम आदमी पार्टी में रहने के दौरान आशतोष कई बार विवादित बयान दे चुके हैं। अश्लील सीडी प्रकरण में फंसे दिल्ली सरकार के तत्कालीन मंत्री संदीप कुमार का ब्लॉग लिखकर बचाव करना आम आदमी पार्टी (AAP) नेता आशुतोष को भारी पड़ गया था। संदीप कुमार के बचाव में अपने ब्लॉग पर महात्मा गांधी, पंडित जवाहर लाल नेहरू, अटल बिहारी बाजपेयी आदि के बारे में की गई अभद्र टिप्पणी के मामले में AAP के प्रवक्ता आशुतोष के खिलाफ दिल्ली के बेगमपुर थाने में मामला दर्ज किया गया था। IPC की धारा 292 और 293 के तहत मामला दर्ज हुआ था।

यह था मामला

AAP के प्रवक्ता आशुतोष ने दो सितंबर 2016 को पार्टी के मंत्री संदीप कुमार के बचाव में ब्लॉग पर पोस्ट किया था। जिसमें उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू, महात्मा गांधी, पूर्व प्रधानमत्री अटल बिहारी वाजपेयी, समाजवादी विचारक डॉ. राम मनोहर लोहिया, जॉर्ज फर्नाडीस के महिला मित्रों के संबंधों के बारे में आपत्तिजनक बातें लिखी थीं। अगले दिन उनके ब्लॉग पर व्यक्त किए विचारों को समाचार पत्रों ने भी प्रकाशित किया था। कराला के जैन नगर के योगेंदर सिंह ने अपने वकील परदीप खत्री के माध्यम से पहले इसकी शिकायत पुलिस से की थी, लेकिन जब पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की तो उन्होंने मार्च 2017 में कोर्ट का शरण ली थी। अब यह मामला कोर्ट में विचाराधी है।

विज्ञापन

कुछ अन्य लोकप्रिय ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


fifteen − 6 =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.