Breaking News
prev next

साड़ी ड्रेपिंग के हाट स्टाइल

नई दिल्ली: साड़ी ऐसा पहनावा है, जो पारंपरिक होते हुए भी हौट लुक दे सकता है. साड़ी हर किसी पर फबती है. इसे पहनने का तरीका हर प्रदेश में अलगअलग होता है. लहंगा, बटरफ्लाई, जलपरी आदि प्रचलित स्टाइलों में से हैं. साड़ी पहनने के कुछ हौट स्टाइल निम्न हैं.

बटरफ्लाई साड़ी

बटरफ्लाई स्टाइल साड़ी डिजाइन में साड़ी पहनने का तरीका निवी स्टाइल जैसा होता है. सिर्फ पल्लू का अंतर होता है. इस साड़ी स्टाइल में पल्लू को काफी पतला कर दिया जाता है, जिस से शरीर का मध्यम भाग दिखता है.

पैंट स्टाइल

पैंट और जैगिंग के साथ साड़ी को एक लाजवाब स्टाइल दे सकते हैं. यह लेटैस्ट फैशन लड़कियों और महिलाओं का पसंदीदा स्टाइल बन चुका है. सौलिड पैंट के लिए आप प्रिंटेड साड़ी चुन सकती हैं. यह एक बहुत अच्छा मेल बनेगा और आप इस में बेहद खूबसूरत लगेंगी.

निवी साड़ी

निवी साड़ी ओढ़ना काफी आसान है और यह साड़ी पहनने का काफी प्रचलित तरीका भी है. यह साड़ी आप आसानी से रोजाना के इस्तेमाल में या किसी उत्सव में भी पहन सकती हैं. निवी स्टाइल ने आंध्र प्रदेश में जन्म लिया था और आज यह सारे भारत में एक प्रचलित स्टाइल है.

मुमताज स्टाइल

पार्टी में जाते वक्त रैट्रो लुक के लिए मुमताज स्टाइल से बेहतर भला क्या विकल्प हो सकता है. आप की खूबसूरत फिगर है, तो आप के लिए इस स्टाइल से बेहतर कोई विकल्प नहीं है.

लहंगा स्टाइल

यह साड़ी डिजाइन एक आधुनिक स्टाइल है, जो साड़ी और लहंगे के रूप में 2 खूबसूरत भारतीय परिधानों का मिश्रण करती है. साड़ी को लहंगे की तरह पहना जाता है और इस के लिए चुन्नटों की मदद ली जाती है. इस स्टाइल के लिए आमतौर पर उलटे पल्लू का प्रयोग किया जाता है. किसी भी खास उत्सव पर पहनने के लिए यह बिलकुल सही विकल्प है.

बंगाली स्टाइल

ट्रैडिशनल लुक के लिए साड़ी के मामले में बंगाली पैटर्न का कोई जवाब नहीं है. यह न केवल ग्रेसफुल लुक देता, बल्कि इसे संभालना भी ज्यादा मुश्किल नहीं होता है.

कूर्गी स्टाइल

यह एक बहुत ही अनोखा स्टाइल है. इस में प्लेट्स पीछे बनाई जाती हैं ताकि आप ठीक से चल सकें. इस स्टाइल में पल्लू फ्रंट चैस्ट में लपेटा होता है और पीछे से घुमा कर आगे कंधे पर डाला जाता है, बगल की नैकलाइन का ध्यान रखते हुए.

मराठी स्टाइल

आम साडि़यों के पैटर्न के मुकाबले यह स्टाइल काफी अलग है. इस के लिए 6 हाथ के बजाय 9 हाथ की लंबाई वाली साडि़यों का इस्तेमाल किया जाता है और नीचे पेटीकोट नहीं पहनते हैं.

तो त्योहारों के इस सीजन में परंपरागत भारतीय लुक पाने के लिए इन में से साड़ी ड्रैपिंग का अपना मनपसंद अंदाज चुनें और फैस्टिव मस्ती का खुल कर आनंद उठाएं.

विज्ञापन

कुछ अन्य लोकप्रिय ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


1 × two =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.