Breaking News
prev next

निजीकरण की राह पर ले जाने वाला है नई कैटरिंग पॉलिसी – मेधा पाटेकर -2


नई दिल्ली । रेलवे की खान पान नीतियों को लेकर समाजसेवी मेधा पाटेकर ने कई सवाल उठाए है। मेधा पाटेकर ने कहा कि रेलवे की नई कैटरिंग पालिसी एक तरह से रेलवे को निजीकरण की राह पर ले जाने वाला है। उन्होंने इस वर्ष से रेल बजट को मुख्य बजट के साथ समायोजित किये जाने पर भी सवाल उठाते हुए कहा किस इस कदम से रेलवे की स्वतंत्रता को समाप्त किया जा रहा है। मेधा पाटेकर ने यह बात आज यहां ‘अखिल भारतीय रेलवे खान-पान लाइसेंसिसीज वेलफेयर एसोसिएशन’ की ओर से आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कही। इस मौके पर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष रविन्द्र गुप्ता भी मौजूद थे।
मेधा पाटेकर ने कहा कि वह स्टेशनों पर खाने पीने का सामान बेचने वाले लाइसेंसी वेंडरों की रोजी रोटी बचाने के साथ-साथ ट्रेनों सफर करने वाले गरीब यात्रियों को सस्ते में खाने पीने का सामान उपलब्ध करना के लिए ‘रेल बचाव, यात्री बचाओं, खानपान आंदोलन’ में ‘हिंद मजदूर यूनियन’ का समर्थन देने का ऐलान किया। मेधा पाटेकर ने रेलवे की नई कैटरिंग पॉलिसी पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि नई नीति से स्टेशनों पर रोजगार पाने वाले एक लाख परिवार का रोजगार खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि आईआरसीटीसी को कैटरिंग का पूरा जिम्मा देने का मतलब बड़े प्राइवेट प्लेयर के हाथ में खान-पान का ठेका देना है। उन्होंने कहा कि बडे प्लेयर के आने के बाद यात्रियों को 10 रुपये के खाने का सामान 100/- रुपये में खरीदने की मजबूरी हो जाएगी। रेलवे की नई कैटरिंग पॉलिसी से आम आदमी सफर करेगा।
मेधा पाटेकरन ने कहा कि नई खान-पान नीति में सुप्रीम कोर्ट के आदेश की भी अवहेलना की जा रही है। उन्होंने कहा कि सभी यात्रियों तक तभी सस्ते में खाना उपलब्ध होगा जब स्टेशनों पर टॉली, खोमचा, लाइसेंसी वेंडरों को खाद्य पदार्थ बेचने की अनुमति मिलेगी। उन्होंने का कि एक साल में जितने लोग विमान में यात्रा करते है उतने लोग रेल से एक दिन में यात्रा करते है।अखिल भारतीय खान-पान वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष रविंद्र गुप्ता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि जब आप रोजगार दे नहीं सकते तो उसे छीनने का अधिकार नहीं है, बावजूद रेलवे ऐसे नियम बना रहा है कि लाइसेंसी वेंडरों का रोजगार खत्म हो जाए। उन्होंने कहा कि लाइसेंसी वेंडरों से कहा जा रहा है कि वे टेंडर तभी कर सकते है जब उनका टर्न ओवर 35 लाख रुपया का होगा, जबकि यह नामुमकिन है। इसका फायदा भी बड़े-बड़े प्लेयर को मिलेगा।

विज्ञापन

कुछ अन्य लोकप्रिय ख़बरे

  • बथुआ साग खाना होता है फायदेमंद
    नई दिल्ली: बथुआ हर घर में खाया जाने वाला आम साग है. इसमें विटामिन ए, कैल्शियम, फॉस्फोरस और पोटैशियम होता है. कई बिमारियां दूर करने के लिए भी बथुए का प्रयोग किया जाता है. पर बथुए को हमेशा एक लिमिट में खाना चाहिए […]
  • हेमा मालिनी ने कहा, बच्चों के साथ हो रहे अपराध से देश नाम खराब होता है
    नई दिल्ली: बच्‍चों के साथ हो रहे अपराध पर बीजेपी सांसद हेमा मालिनी ने कहा है कि अभी इसकी ज्यादा पब्लिसिटी हो रही है. पहले भी शायद हो रहा होगा पर किसी को मालूम नहीं था, लेकिन इसके ऊपर जरूर ध्यान दिया जाए. ऐसे जो […]
  • डोनाल्ड ट्रम्प ने किम जोंग उन से कहा अब और परमाणु परीक्षण नही होंगे
    उत्तर कोरिया: उत्तर कोरिया के शक्तिशाली नेता किम जोंग उन ने घोषणा की है कि प्योंगयांग अब परमाणु या अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण नहीं करेगा और इसके साथ ही वह अपनी परमाणु परीक्षण साइट बंद कर देगा. इस घोषणा […]
  • गोल्ड कोस्ट में भारत की चमक 
    देश पर छाई विपरीत स्थितियों की धुंध को चीरते कॉमनवेल्थ गेम्स से आती रोशनी एवं भारतीय खिलाड़ियों के जज्बे ने ऐसे उजाले को फैलाया है कि हर भारतीय का सिर गर्व से ऊंचा हो गया है। वहां से आ रही रोशनी के टुकड़े देशवासियों […]
  • जानिये शनिदेव की महिमा
    नई दिल्ली: भगवान शनिदेव की कृपा पाने के लिए आपकों ये दस उपाय जरूर करने होंगे अन्यथा आपकों दुख के अलावा कुछ नहीं मिलेगा। गौरतलब है कि यमराज यदि मृत्यु के देवता हैं, तो शनि कर्म के दंडाधिकारी हैं। गलती जाने में हुई […]
  • मशरूम दूर भगाता है मोटापा
    नई दिल्ली: आज की बदलती जीवनशैली में हर कोई अपने मोटापे से परेशान है और मोटापा बढ़ने के साथ-साथ तमाम तरह की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं शुरू होने लगती है. पेट की बढ़ी हुई चर्बी की वजह से आपको कई बार शर्मिंदा भी होना […]
  • कठुआ गैंगरेप में पीड़ित परिवार की मदद के लिए जुटाया पैसा
    जम्मू: जम्मू कश्मीर सरकार ने जांच एजेंसियों को एक ऑडियो भेजा जिसमें दो लोगों को यह बातचीत करते सुना गया है कि कैसे कथित तौर पर बलात्कार के बाद मार दी गई कठुआ की आठ साल की बच्ची के नाम पर धन जुटाया गया लेकिन उसके […]

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


eleven − ten =